नई दिल्ली : देश की कार बनाने वाली शीर्ष दो कंपनियों- मारुति सुजुकी इंडिया और हुंडई मोटर्स के लिए नए वित्त वर्ष की शुरुआत थोड़ी निराशाजनक रही. अप्रैल में दोनों कंपनियों की घरेलू बिक्री में गिरावट दर्ज की गई है. वित्त वर्ष 2019- 20 के पहले महीने अप्रैल में मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की घरेलू बिक्री 18.7 प्रतिशत जबकि हुंदै की बिक्री 10.1 प्रतिशत गिर गई.

मारुति की घरेलू यात्री वाहन श्रेणी में 50 प्रतिशत से अधिक की हिस्सेदारी है. कंपनी की घरेलू बिक्री पिछले साल अप्रैल के 1,64,978 वाहनों से 18.70 प्रतिशत गिरकर 2019 के इसी महीने में 1,34,068 वाहन रह गई. वहीं, मारुति की कुल बिक्री 17.20 प्रतिशत गिरकर 1,43,245 कारों की रही. पिछले साल अप्रैल में उसने 1,72,986 वाहनों की बिक्री की थी. दूसरी बड़ी कार विक्रेता कंपनी हुंडई मोटर की घरेलू बाजार में बिक्री अप्रैल महीने में 42,005 वाहन रही, जो कि एक साल पहले अप्रैल में 46,735 इकाइयों की रही थी.

मारुति की ऑल्टो समेत मिनी कारों की बिक्री पिछले साल 37,794 इकाइयों की तुलना में 39.80 प्रतिशत गिरकर 22,766 इकाइयों पर आ गई. इसी प्रकार, अप्रैल महीने के दौरान स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर समेत कॉम्पैक्ट श्रेणी की बिक्री 13.9 प्रतिशत गिरकर 72,146 इकाइयों पर आ गई. पिछले साल इसी महीने उसने इन श्रेणी में 83,834 वाहनों की बिक्री की थी.

मध्यम आकार की सेडान सियाज की बिक्री भी 5,116 इकाइयों से गिरकर 2,789 इकाइयों पर आ गई. हालांकि, विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस और एर्टिगा जैसे यूटिलिटी वाहनों की बिक्री इस दौरान 20,804 इकाइयों की तुलना में 5.90 प्रतिशत बढ़कर 22,035 इकाइयों पर पहुंच गई. इस दौरान कंपनी का निर्यात भी 14.6 प्रतिशत बढ़कर 9,177 इकाइयों पर पहुंच गया. अप्रैल 2018 में यह आंकड़ा 8,008 इकाइयों पर था.

दूसरी ओर, होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड (एसीआईएल) की अप्रैल महीने में घरेलू बाजार में बिक्री 23 प्रतिशत बढ़कर 11,272 वाहनों पर पहुंच गई. एक साल पहले की इसी अवधि में यह आंकड़ा 9,143 इकाइयों पर था.

वीई कॉमर्शियल व्हीकल्स लिमिटेड की बिक्री अप्रैल में 3,961 इकाइयों के लगभग पहले के स्तर पर रही. कंपनी ने अप्रैल 2018 में 3,960 इकाइयों की बिक्री की थी. वीई कॉमर्शियल, वोल्वो समूह और आयशर मोटर्स का संयुक्त उद्यम है.

एमएसआई के चेयरमैन आरसी भार्गव ने पिछले सप्ताह कहा था कि इस साल वाहन बिक्री बाजार लगातार कमजोर बना रह सकता है. इसके पीछे उन्होंने ईंधन मूल्यों में अनिश्चितता और अगले साल से भारत स्टेज 6 उत्सर्जन मानकों के अमल में आने जैसे कारण गिनाए.

दोपहिया वाहन क्षेत्र में, सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया की घरेलू बिक्री 9.25 प्रतिशत बढ़कर 57,072 इकाइयों पर पहुंच गई. एक साल पहले अप्रैल में उसने घरेलू बाजार में 52,237 मोटरसाइकिलों की बिक्री की थी.