Nissan Magnite: जापानी कार कंपनी निसान अपने डीलर पार्टनर्स के साथ मिलकर भारत में 1,500 नियुक्तियां करने की योजना बना रही है. उत्पादन बढ़ाने के लक्ष्य को ध्यान में रककर निसान ऐसा करने जा रही है. इसके साथ सेल्स टीम को भी मजबत करने का इरादा है. कंपनी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. Also Read - Nissan ने लॉन्च की 5 लाख की Magnite एसयूवी कार, 31 दिसंबर से पहले कर लें बुकिंग

दरअसल, निसान (Nissan) ने हाल ही में स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (SUV) मैग्नाइट को बाजार में उतारा है. कंपनी की योजना मैग्नाइट का उत्पादन बढ़ाने के लिये चेन्नई संयंत्र में तीसरी शिफ्ट शुरू करने की है. Also Read - आ गई सबसे सस्ती कार, मात्र 5 लाख में Nissan की इस कार को बनाएं अपना, 11 हजार में करें बुकिंग

कंपनी मैग्नाइट का उत्पादन प्रतिमाह करीब 2,500 यूनिट से बढ़ाकर फरवरी माह से मासिक 3500-4000 यूनिट करने की योजना पर विचार कर रही है. Also Read - Top 5 SUV Launched In 2020: Maruti Brezza से Nissan Magnite तक, इस साल इन 5 धांसू SUV की मार्केट में एंट्री

बता दें, निसान मैग्नाइट (Nissan Magnite) को दो दिसंबर को लॉन्च किया गया था. तब से अब तक कंपनी को इसके लिए करीब 32,800 बुकिंग मिल चुकी हैं. मैग्नाइट (Magnite) की डिलीवरी के लिए वेटिंग पीरियड कई महीने का हो चुका है.

जानिए- कार कंपनी क्यों बढ़ाना चाह रही है उत्पादन

निसान मोटर इंडिया (Nissan Motor India) के प्रबंध निदेशक राकेश श्रीवास्तव (Rakesh Srivastava) ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि हम चाहते हैं कि हमारे ग्राहक जल्द से जल्द मैग्नाइट का आनंद लें और इसके लिये हम उत्पादन बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं. हम संयंत्र में तीसरी शिफ्ट शुरू करने जा रहे हैं और इसके लिये हम संयंत्र में एक हजार लोगों को नौकरी पर रखने वाले हैं. उन्होंने कहा कि इसके अलावा 500 अन्य लोगों को कंपनी की डीलरशिप के लिये नियुक्त किया जायेगा. ताकि ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाया जा सके.

एंट्री लेवल का दाम बढ़ाने पर हो रहा है विचार

रेनॉ-निसान के चेन्नई स्थित संयुक्त संयंत्र की क्षमता सालाना 4.8 लाख वाहन बनाने की है. इस संयंत्र से कंपनी 100 से अधिक देशों में निर्यात करती है. श्रीवास्तव ने बताया कि मैग्नाइट के एंट्री लेवल वेरिएंट को छोड़ अन्य वेरिएंट्स की कीमतें बढ़ाने की कोई योजना नहीं है. बता दें, कंपनी ने इससे पहले यह कहा था कि लागत में वृद्धि को देखते हुए जनवरी से विभिन्न मॉडलों के दाम पांच फीसदी तक बढ़ाए जाएंगे. इसके साथ ही कंपनी इंडोनेशिया और दक्षिण अफ्रीका को मैग्नाइट का निर्यात करने पर विचार कर रही है.