नई दिल्ली: कई शहरों में लोगों को सेल्फ ड्राइविंग कार मुहैया कराने वाली कंपनी Zoomcar ने महिंद्रा इलेक्ट्रिक के साथ करार किया है. इस करार के तहत कंपनी दिल्ली में अपने मंच पर 100 इलेक्ट्रिक कारों की पेशकश करेगी , जो महिंद्रा की ‘ ई 20 प्लस कार होंगी. इस करार के बाद दिल्ली-एनसीआर में भी इलेक्ट्रिक कार किराए पर मिल पाएगी. इस योजना के तहत ग्राहकों के लिए 100 महिंद्रा e2oPlus कार उपलब्ध होंगी. इसी हफ्ते से ये कारें रेंट पर मिलने लगेंगी. दोनों कंपनियों ने मैसूर, हैदराबाद और जयपुर के बाद अपनी इस सेवा का विस्तार दिल्ली-एनसीआर में करने का फैसला किया है. जूम कार के को-फाउंडर ग्रेग मोरन ने बताया कि जूम कार इन्हें फुल चार्ज करके देगी. ज्यादा दिन रखने पर आप घर पर भी इन्हें चार्ज कर सकते हैं. एयरपोर्ट और नई दिल्ली स्टेशनों से भी इन्हें रेंट पर लिया जा सकेगा. Also Read - गणतंत्र दिवस पर Aligarh Muslim University परिसर में गाड़ा जाएगा 'Time Capsule', जानें वजह....

महिंद्रा इलेक्ट्रिक के सीईओ महेश बाबू ने कहा कि दिल्ली को इलेक्ट्रिक कारों को बेहद जरूरत है और दिल्ली सरकार इलेक्ट्रिक कारों को लेकर काफी सहयोगात्मक रवैया है और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को खरीदने वालों को अतिरिक्त वित्तीय मदद देती है. उन्होंने उम्मीद जताई कि इस कदम के बाद से इलेक्ट्रिक कारों पर लोगों का भरोसा और बढ़ेगा. इन्हें दिल्ली के निवासी या विजिटर्स Zoomcar प्लैटफॉर्म के जरिए किराए पर ले पाएंगे. Also Read - Varun Dhawan Natasha Dalal Marriage Photo: वरुण धवन की दुल्हनिया नताशा दलाल के बारे में कितना जानते हैं आप, जानें इनसाइट स्टोरी

महिंद्रा इलेक्ट्रिक , महिंद्रा एंड महिंद्रा की इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाली इकाई है. कंपनी का कहना है कि इस साझेदारी से साफ और स्वच्छ ऊर्जा से चलने वाले वाहनों के प्रसार में मदद मिलेगी. महिंद्रा इलेक्ट्रिक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी महेश बाबू ने कहा , ‘ इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए महिंद्रा प्रतिबद्ध है. हमारा लक्ष्य इलेक्ट्रिक वाहनों को भारत में सार्वजनिक परिवहन , साझेदारी या निजी वाहनों के क्षेत्र में अधिक स्वीकार योग्य बनाना है. Also Read - Farmers’ Republic Day Tractor Rally: किसानों के कई और समूह पंजाब से दिल्ली रवाना, हरियाणा की खापों ने भी कसी कमर; पुलिस ने जारी किया पूरा 'प्लान'

गौरतलब है कि कंपनी ने लगभग एक महीने पहले दोनों कंपनियों के इस समझौते का ऐलान किया था. उस वक्त कंपनी के ओर से जारी एक बयान में बताया गया था कि वह जूमकार इंडिया या जूमकार इंक में 176 करोड़ रुपए का निवेश करेगी जो अंतिम तौर पर जूमकार इंक में 16% हिस्सेदारी में बदल जाएगा.