President Ram Nath Kovind visits Ayodhya राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को अयोध्या का दौरा किया और उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा अन्य की उपस्थिति में एक रामायण संगोष्ठी का आरंभ किया.Also Read - BJP ने गठबंधन का ऐलान किया, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर UP विधानसभा का चुनाव लड़ेगी

इस शहर के संदर्भ में भगवान राम की महत्ता पर जोर देते हुए राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘राम के बिना अयोध्या, अयोध्या नहीं है. जहां राम है वहीं अयोध्या है. भगवान राम इस शहर में स्थायी रूप से रहते हैं और अत: सच्चे मायनों में यह स्थान अयोध्या है.’’ इस मौके पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा तथा केंद्रीय रेलवे और कपड़ा राज्यमंत्री दर्शना विक्रम जरदोश भी मौजूद रहीं. Also Read - अयोध्या में सदी पुराने मंदिर से आठ प्राचीन मूर्तियां चोरी, खुफिया विभाग की मदद ले रही पुलिस

इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने परिवार के साथ रविवार को यहां श्री राम जन्मभूमि परिसर में रामलला के दर्शन किए. पुजारियों के मंत्रोच्चार के जाप के बीच उन्होंने पूजा-अर्चना और आरती भी की. पूजा के बाद राष्ट्रपति के माथे पर तिलक लगाया गया. मंदिर के पुजारी ने राष्ट्रपति को एक शॉल भेंट की और राष्ट्रपति ने उनसे संक्षिप्त बातचीत की. इसके बाद उन्होंने एक पौधा लगाया. कोविंद को राम मंदिर की एक लघु प्रतिकृति भी भेंट की गई. Also Read - Narendra Giri Death Case: महंत नरेंद्र गिरि की मौत की होगी CBI जांच, योगी सरकार ने की सिफारिश

राष्ट्रपति ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ हनुमानगढ़ी मंदिर का दौरा भी किया और पूजा-अर्चना की. हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद राष्ट्रपति को गुलाबी रंग की पगड़ी भेंट की गई. इस अवसर पर उनके साथ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा भी मौजूद थे. शहर में लोग अपने घरों की छतों पर राष्ट्रपति की झलक पाने के लिए खड़े देखे गए.