बेंगलुरु: कर्नाटक में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह कर्नाटक दौरे पर हैं. इस दौरान उन्‍होंने दक्षिण कन्‍नड़ जिले के कुक्के सुब्रमण्या मंदिर का दर्शन किया. एक रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री सिद्धारमैया पर हमला करते हुए कहा कि सिद्धारमैया अगर ये सोच रहे हैं कि तुष्‍टीकरण की राजनीति से उन्‍हें सफलता मिल जाएगी तो वह गलत हैं. Also Read - Balakot Air Strikes Anniversary: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह ने एयरफोर्स को किया सैल्‍यूट

अमित शाह ने कहा कि तुष्‍टीकरण का एक उदाहरण यहां देखने को तब मिला, जब इनके एमएलए हरीश के बेटे ने एक आदमी को बुरी तरह पीट दिया, लेकिन उसके खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुआ. क्‍यों? क्‍योंकि वह हरीश का बेटा है और वह उस समूह में शामिल है जो तुष्‍टीकरण करता है. Also Read - Nathuram Godse की मूर्ति लगाने में शामिल रहे Hindu Mahasabha के नेता ने ज्‍वाइन की Congress, एमपी में सियासत गर्माई

बता दें कि कर्नाटक विधाननसभा चुनाव को लेकर अब नेताओं के बीच बयानबाजी तेज हो गई है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर हमला बोल दिया है. इससे पहले की गई रैली में अमित शाह ने कहा था कि सिद्धारमैया की सरकार भ्रष्टाचार की सभी सीमाएं पार कर चुकी है. शाह ने कहा था कि कर्नाटक में भ्रष्टाचार और सिद्धारमैया एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं. सिद्धारमैया का मतलब भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार का मतलब सिद्धारमैया हो गया है.

इस पर सिद्धारमैया ने भी जवाब देते हुए अमित शाह को बुद्धिहीन और एक्‍स-जेल बर्ड कहा था.

कर्नाटक के सुल्लिया में अपनी रैली के दौरान अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव सिर्फ इस राज्‍य के लिए नहीं बल्‍कि इसमें पूरे राष्‍ट्र का हित है. इस चुनाव में जो सरकार कर्नाटक में आएगी, वह हमारे लिए दक्ष‍िण के दरवाजे खोलेगी. अमित शाह ने कहा कि बीजेपी का वर्क कल्‍चर दूसरों से अलग है. बीजेपी के नेता विश्‍व प्रसिद्ध हैं और कश्‍मीर से कन्‍याकुमारी तक उनके 11 करोड़ सदस्‍य हैं.