पटना: बिहार की राजधानी पटना में बीते शुक्रवार को एक महिला कॉन्‍स्टेबल की डेंगू से हुई मौत के बाद पुलिसकर्मियों ने अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए पुलिस लाइन में जमकर हंगामा मचाया और तोड़फोड़ की थी. अब इस मामले में 175 बिहार पुलिस के ट्रेनी कॉन्‍स्‍टेबल पर कार्रवाई की गाज गिरी है. उन्‍हें सस्‍पेंड कर दिया गया और 10 पुलिस कॉन्‍टेबल को निलंबित कर दिया गया है.

एक महिला कॉन्‍स्टेबल की मौत के बाद आक्रोशित ट्रेनी पुलिसकर्मी सड़कों पर उतर गए थेे और उन्होंने आसपास की दुकानों को जबरदस्ती बंद करवाया था और आम लोगों की पिटाई भी की थी. पुलिस के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने समझाने की कोशिश की तो उन्‍हें भी नहीं छोड़ा. सिटी एसपी और डीएसपी की भी उन्‍होंने पिटाई कर दी.

पुलिस के अनुसार, “पटना पुलिस लाइन में एक महिला कॉन्‍स्टेबल की शुक्रवार को डेंगू से मौत हो गई. मृतक एक निजी अस्पताल में भर्ती थी. इस घटना के बाद पुलिस लाइन के कई पुलिसकर्मी आक्रोशित हो गए.” उन्होंने उच्च पदाधिकारियों पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए पुलिस लाइन में जमकर हंगामा किया. वहां खड़े वाहनों में तोड़फोड़ की. हंगामा करने में कई महिला पुलिसकर्मी भी शामिल थीं.

बिहार: पटना में महिला कॉन्‍स्‍टेबल की मौत पर आक्रोशित पुलिसकर्मियों ने जमकर काटा बवाल, सिटी एसपी की भी कर दी पिटाई

आम लोग जब आक्रोशित हुए तब सभी पुलिसकर्मी पुलिस लाइन में लौटे थे. इस दौरान दोनों ओर से पथराव हुआ. आक्रोशित पुलिसकर्मियों का आरोप था कि उन्हें जरूरी कार्य तक के लिए छुट्टी नहीं दी जाती है. मृतका का भी छुट्टी न मिलने के कारण सही ढंग से इलाज नहीं हो पाया, जिससे उसकी मौत हो गई.

पटना के एसएसपी मनु महाराज पुलिस लाइन में पुलिसकर्मियों से बातचीत करने पहुंचे थे तो भी इन पुलिसकर्मियों ने अभद्रता की थी. घटना के बाद पुलिस लाइन में कई थानों की पुलिस को बुला लिया गया है. सीएम नीतीश कुमार ने इस मामले की पुलिस के वरिष्‍ठ अफसरों को सौंपी थी. इसके बाद निलंबन की ये कार्रवाई की गई है.