पटना. एक तरफ जहां देश के कई हिस्सों में मानसून के आने में देरी को लेकर चिंताएं जाहिर की जा रही हैं, वहीं बिहार में वर्षा और इस दौरान आकाशीय बिजली का कहर बरप रहा है. बुधवार को भी बिहार के विभिन्न जिलों में तेज बारिश हुई. पिछले 24 घंटे के दौरान हुई बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से करीब 30 लोगों की मौत हो गई. पिछले एक हफ्ते में वज्रपात से लोगों की मौत होने का यह दूसरा बड़ा मामला है. इससे पहले 21 जून को बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत हो गई थी. बिहार राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि राज्य के कई हिस्सों में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 30 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई अन्य लोग घायल हो गए हैं. Also Read - Weather Report: महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ से 48 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने उद्धव ठाकरे से की बात, कर्नाटक में गंभीर हालात

विभाग के मुताबिक, वज्रपात से सबसे अधिक भागलपुर में छह लोगों की मौत हुई है, जबकि बेगूसराय में चार लोग इसकी चपेट में आ गए. इसके अलावा सहरसा, पूर्णिया, अररिया, जमुई, दरभंगा, मधेपुरा, खगड़िया, कटिहार, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, शिवहर, नवादा और गया में भी आकाशीय बिजली की चपेट में आने से कई लोगों की मौत हुई है. Also Read - Flood in Maharashtra: पश्चिमी महाराष्ट्र में बारिश का कहर, 20 हजार से ज्यादा लोगों को किया गया रेस्क्यू, 27 लोगों ने गंवाई जान

इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वज्रपात से हुई मौत पर गहरी शोक संवेदना प्रकट की है. मुख्यमंत्री ने मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह अनुदान देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने राहत आपदा कोष से तत्काल अनुदान राशि देने का निर्देश दिया है. उल्लेखनीय है कि 21 जून को भी बिहार के कई हिस्सों में आकाशीय बिजली गिरने से 12 से अधिक लोगों की मौत हुई थी. Also Read - Mumbai Rain: मुंबई में बारिश से बढ़ी मुसीबतें, पानी से भरी लिफ्ट में फंसकर दो चौकीदारों की मौत

(इनपुट – एजेंसी)