पटना: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को घोषणा की कि आरपीएफ के जवानों की होने वाली भर्ती में 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित रखी जाएगी. कहा, ”अब जब हम आरपीएफ के करीब 10 हजार जवानों की भर्ती का काम शुरू करेंगे, उसमें से 50 प्रतिशत महिलाओं के लिए आरक्षित रखेंगे.” उन्होंने ये भी कहा कि रेलवे में एक लाख 30 हजार नौकरियां आ रहीं हैं, जिनके लिए कोई इंटरव्यू नहीं होगा, सिर्फ इसमें कंप्यूटर पर आधारित परीक्षा देना होगी.

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ” 9500-10000 आरपीएफ जवानों की आगामी भर्ती में, महिलाओं के लिए 50 फीसदी आरक्षण होगा और रेलवे में 13,00,00 नौकरियां भी आ रही हैं, जिसमें कंप्यूटर आधारित परीक्षा होगी, कोई इंटरव्यू नहीं होगा”

6000 और प्रमुख ट्रेनों में सीसीटीवी लगाने का काम भी शुरू होने वाला है
गोयल ने कहा, ”हम देश के सभी स्टेशनों लगभग 6000 और प्रमुख ट्रेनों में सीसीटीवी लगाने का काम भी शुरू करने वाले हैं, ताकि यात्रियों को सुरक्षा और सुविधा मिले.

रेल मंत्री गोयल ने ये खास बातें कहीं
– रेलवे के एक छोटे हिस्से जो पटना शहर से पटना घाट के बीच का है, उसे राज्य सरकार को सड़क निर्माण के लिए जल्द दे दिया जाएगा
– डालमिया नगर में 600 करोड़ रुपए की लागत से एक पीओएच वर्कशॉप बनाने का काम हम करने जा रहे हैं
– पटना के चारों ओर जो मेमू ट्रेन चलती है, उसके लिए 100 करोड़ रुपए की लागत से एक मेमू शेड भी शीघ्र बनाया जाएगा
– गोयल ने कहा कि आज पटना, बिहार में आयोजित कार्यक्रम में पटना-दीघा रेलवे जमीन से संबंधित कागज बिहार सरकार को सौंपे
– इस हस्तांतरण से पटनावासियों की ट्रैफिक संबंधी समस्याओं का अंत होगा तथा नगर के लोगों को सुविधा होगी.
– विद्युतीकरण होने से पटना और सासाराम के बीच ट्रेन की गति तेज होगी
– इससे यात्रियों को कम समय लगेगा और यह पर्यावरण के लिए भी सुरक्षित रहेगा
– आरा स्टेशन को आदर्श स्टेशन बनाने की जो योजना शुरू हुई है उसमें स्टेशन के साथ बाहर भी सौंदर्यीकरण का काम होगा.
– 2009-14 के 5 वर्षों में पिछली सरकार ने बिहार में मात्र 5.5 हजार करोड़ रुपए रेलवे में निवेश किए थे
– पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार में 2014-19 में लगभग 15 हजार करोड़ का निवेश रेलवे में होने वाला है
– बिहार के नौजवान रेलवे को चलाने में भी बहुत बड़ा योगदान देते हैं और बड़ी विशाल संख्या में बिहार के नौजवानों ने रेलवे में सेवा दी है.
– बिहार के विकास के किसी भी कार्य में रेलवे की ओर से कोई कमी नहीं रहेगी
– बिहार में हर व्यक्ति के घर तक आगामी नवंबर-दिसंबर बिजली पहुंच जाएगी

समारोह को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय मंत्री आर के सिंह, गिरिराज सिंह, अश्विनी चौबे, राम कृपाल यादव तथा बिहार के मंत्री बीजेंद्र प्रसाद यादव, नंद किशोर यादव और मंगल पांडेय ने भी संबोधित किया. (इनपुट- एजेंसी)