नई दिल्ली: बिहार के वैशाली जिला के सहदेई बुजुर्ग रेलवे स्टेशन के पास रविवार तड़के करीब चार बजे 12487 जोगबनी-आनंद विहार टर्मिनल सीमांचल एक्सप्रेस ट्रेन के 11 डिब्बों के पटरी से उतर जाने सात लोगों की मौत हो गई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसे में मरने वाले के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और दुख की इस घडी में शोक संतप्त परिवार को धर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की इश्वर से प्रार्थना की है. कुमार के निर्देश पर वैशाली के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक घटना स्थल पर मौजूद हैं. पुलिस-प्रशासन रेलवे के साथ राहत एवं बचाव कार्य में सहयोग कर रहा है.

मुख्यमंत्री ने दुर्घटना में घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की भी ईश्वर से कामना की है. पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि हादसे में 24 लोग घायल हुए हैं. राजकीय रेल पुलिस (आरपीएफ) अधीक्षक (मुजफ्फरपुर) संजय कुमार सिंह ने बताया कि हादसे में सात लोगों की मौत हुई है. पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि सोनपुर रेल मंडल अंतर्गत बरौनी- बछवारा-हाजीपुर सिंगल रेल लाइन से मेहनार रोड स्टेशन से रविवार तड़के प्रात: तीन बजकर बावन मिनट पर गुजरने के बाद जोगबनी-आनंद विहार टर्मिनल सीमांचल एक्सप्रेस ट्रेन के 11 डिब्बे सहदेई बुजुर्ग रेलवे स्टेशन के समीप तीन बजकर अट्डावन मिनट पर पटरी से उतर गए.

उन्होंने बताया कि सभी घायल यात्रियों को इलाज के लिए पास के अस्पताल, जिला अस्पताल और रेलवे अस्पताल ले जाया गया है. हादसा स्थाल पर डॉक्टर पर्याप्त संख्या में मौजूद हैं. एंबुलेंस सेवा भी उपलब्ध है. राजेश ने बताया कि राहत और बचाव कार्य चल रहा है. रेलवे प्रशासन और राज्य प्रशासन के अलावा एसडीआरएफ और एनडीआरएफ भी राहत और बचाव कार्यों में रेलवे की सहायता कर रहा है.

उन्होंने कहा कि रेलवे ने सभी यात्रियों के लिए दुर्घटनास्थल पर भोजन और पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था की है. हाजीपुर और पटना में भी भोजन, पेयजल आदि की व्यवस्था. उन्होंने बताया कि इस हादसे को लेकर तीन हेल्पलाइन नंबर : सोनपुर 06158221645, हाजीपुर 06224272230, बरौनी 06279232222 और पटना में 06122202290, 06122202291, 06122202292 एवं 06122213234: जारी किए गए हैं. राजेश ने बताया कि पहली नजर में हादसे का मुख्य कारण रेल पटरी में दरार लग रहा है. इसकी जांच सीआरएस (पूर्वी क्षेत्र) लतीफ खान करेंगे. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेल दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजन को पांच लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों में प्रत्येक को एक-एक लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की.