पटना: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित 12वीं की परीक्षा संपन्न हो गई. परीक्षा के दौरान नकल के आरोप में लगभग 1,000 परीक्षार्थियों को निष्कासित कर दिया गया है. समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने शनिवार को बताया कि जल्द ही मूल्यांकन का काम शुरू किया जाएगा. उन्होंने बताया कि छह फरवरी से 16 फरवरी तक चली परीक्षा में राज्यभर से 985 परीक्षार्थियों को नकल के आरोप में निष्कासित किया गया. Also Read - Bihar Board Intermediate Exam 2020-22: BSEB ने इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए आज से रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की शुरू, जानें इससे जुड़ी खास बातें 

उन्होंने कहा कि सबसे अधिक 104 परीक्षार्थी गया जिले से निष्कासित किए गए. इस दौरान 25 फर्जी परीक्षार्थियों को भी पकड़ा गया जो किसी और की जगह परीक्षा दे रहे थे. तीन पर्यवेक्षकों पर भी नकल करवाने में शामिल होने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज हुई है. Also Read - Bihar Board 12th Exam 2021: BSEB ने इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए आवेदन करने की बढ़ाई डेट, जानें इससे जुड़ी खास बातें 

परीक्षा में राज्यभर से 12,07,986 छात्र-छात्राएं शामिल होने थे लेकिन नकल को लेकर हुई सख्ती के चलते लगभग 24,000 परीक्षार्थी नदारद रहे.