नई दिल्ली: यूपी के झांसी-महोबा राष्ट्रीय राजमार्ग में सड़क दुर्घटना के बाद अब बिहार के भागलपुर में एक भीषण हादसा हुआ है. इस सड़क हासदे सें पैसेंजर बस और ट्रकी टक्कर में कुल नौ लोगों की मौत हो गई जबकि दस से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. Also Read - Coronavirus Effect: अब इस राज्य में पोस्टमैन घर-घर पहुंचाएंगे आम और लीची, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग

यह भीषण हादसा नवगछिया के खरीक थाना क्षेत्र के एनएच 31 का है. घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम भी मौके पर पहुंच गई है. बताया जा रहा है कि यह दुर्घटना गाड़ियों के आमने सामने से भीड़ने के कारण हुई. दोनों ही गाड़ियों की टक्कर इतनी तेज थी ट्रक सड़क किनारे पलट गया. Also Read - सोनिया गांधी की मोदी सरकार से डिमांड- जरूरत मंदों और प्रवासी मजदूरों को केंद्र 7,500 रुपये दे

घटना में मौजूद लोगों ने बताया कि बस और ट्रक दोनों में ही यात्री मौजूद थे. ट्रक में लोहे के पाइप और छड़ लदी हुईं थी इस वजह से जब वह पलटा तो मजदूर उसके नीचे से निकल नहीं पाए. मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने ट्रक के मलबे को हटाने के लिए जेसीबी बुलाई जिसके द्वारा ट्रक के सामान को हटाया गया.

घटना में मारे गए लोगों की पहचान नहीं हो पाई है. वहीं दूसरी तरफ बस में सवार लोगों को चोटे आईं हैं. चार लोग गंभीर रूप से घायल जिनको इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है.

आपको बता दें कि पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है. अब लॉकडाउन का चौथा चरण लागू हो गया है जो कि 31 मई तक चलेगा. लॉकडाउन होने की वजह से प्रवासी मजदूरों के पास रोजगार समाप्त हो गया है. कुछ दिनों तक तो इन प्रवासी मजदूरों ने हिम्मत दिखाई लेकिन अब  पचास दिनों से ज्यादा वक्त गुजर जाने के बाद इनकी हिम्मत भी जवाब दे रही है. हर कोई किसी न किसी तरह से अपने घर पहुंचने की कोशिश कर रहा है. प्रशासन लगातार प्रवासी मजदूरों से गुहार लगा रहा कि अपने घर जाने के लिए सिर्फ रेलगाड़ी या फिर बसों का ही प्रयोग करें.