Kosi Rail Mahasetu: बिहार में कोसी और मिथिलांचल के लोगों का सपना 86 साल के बाद पूरा होने जा रहा है. कोसी नदी पर  बने रेल महासेतु पर ट्रेन का ट्रायल सफल होने के बाद अब जल्द ही इस महासेतु से ट्रेनें दौड़नी शुरू हो जाएंगी. PM नरेंद्र मोदी के हाथों रेल महासेतु के साथ ही सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा रेलखंड का उद्घाटन 18 सितंबर को होने जा रहा है.Also Read - Coronavirus in india: पीएम मोदी ने सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों से बात की, जानिए लॉकडाउन पर क्या कहा

पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 18 सितंबर को कोसी महासेतु का उद्घाटन करने वाले हैं. समस्तीपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम सरस्वती चंद्र के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोसी महासेतु का उद्घाटन करेंगे. साथ ही सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा के बीच ट्रेन भी रवाना की जायेगी. इससे अब कोसी क्षेत्र से मिथिलांचल जुड़ जाएगा. Also Read - Tamil Nadu News Today: आज तमिलनाडु में 11 नए मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी, नया CICT कैंपस भी मिलेगा

इस रेल पुल के शुरू होते ही निर्मली से सरायगढ़ की 298 किलोमीटर की दूरी घटकर महज 22 किलोमीटर रह जाएगी. अभी निर्मली से सरायगढ़ तक के सफर के लिए लोगों को दरभंगा-समस्तीपुर-खगड़िया-मानसी-सहरसा होते हुए 298 किमी की दूरी तय करनी होती है.इस नए पुल पर जून महीने में ही ट्रेनों के परिचालन की टेस्टिंग की जा चुकी है. Also Read - Bihar: बिहार में फेल हुए चौथी से 8वीं तक के 30 फीसदी छात्र, वजह जानें

इस महासेतु से ट्रेनों का परिचालन शुरू होते ही उत्तर बिहार के पिछड़े और दूरस्थ गांवों के लोगों का करीब 90 साल पुराना सपना सच हो जाएगा और वो आसानी से अब ट्रेन से यात्रा कर पाएंगे. करीब दो किलोमीटर लंबे इस कोसी महासेतु को बनाने का काम 6 जून 2003 को शुरू किया गया था. उस वक्त देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वायपेयी ने इस परियोजना का शिलान्यास किया था. इस परियोजना की लागत करीब 516 करोड़ रुपये है.

इसके साथ ही सरायगढ़ से आसनपुर कुपहा के बीच ट्रेन भी रवाना की जायेगी. दरअसल, कोसी महासेतु रेल पुल पर ट्रेनों के परिचालन की मंजूरी रेलवे ने पहले ही दे दी है. कोसी महासेतु पुल पर ट्रेन 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकेगी. बिहार के कोसी और मिथिलांचल के लोगों के लिए ये बड़ी खुशखबरी है.