नई दिल्ली: रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा के राजग का दामन छोड़ संप्रग में शामिल होने के बीच भाजपा के साथ लोजपा का संबंध गुरुवार को तनावपूर्ण नजर आया, जब पार्टी (लोजपा) के नेता चिराग पासवान ने केंद्र सरकार को नोटबंदी से देश को हुए फायदे गिनाने को कहा.सूत्रों ने संकेत दिया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और वित्त मंत्री अरुण जेटली सहित पार्टी के शीर्ष नेताओं और लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान के बीच घंटे भर चली बैठक बेनतीजा रही. हालांकि, भाजपा महासचिव एवं बिहार के पार्टी प्रभारी भूपेंद्र यादव ने कहा कि गठबंधन में कोई समस्या नहीं है और यह अक्षुण्ण है. वह भी बैठक में मौजूद थे.

पीएम मोदी के प्रशंसक रहे अर्थशास्त्री मेघनाद देसाई नेकहा- मोदी ने जनाधार खो दिया है

लोजपा सूत्रों ने कहा कि पांच राज्यों में हुए हालिया विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार ने भगवा पार्टी के साथ उसके संबंधों पर फिर से विचार करने की एक वजह दे दी है. सूत्रों ने बताया कि चिराग ने 11 दिसंबर के चुनाव नतीजे आने के बाद जेटली को एक पत्र लिख कर उनसे नोटबंदी के फायदे गिनाने को कहा था, ताकि वह (लोजपा)लोगों को इस बारे में विस्तार से बता सकें. मीडिया में दी गई अपनी टिप्पणियों में चिराग ने किसानों और युवाओं के बीच बेचैनी के बारे में बात की है और राजग के मुश्किल वक्त से गुजरने के बारे में भी ट्वीट किया है.

2019 में नरेंद्र मोदी की जगह पीएम पद का दावेदार बनने के सवाल पर नितिन गडकरी ने दिया ये जवाब

यादव पहले पिता-पुत्र से मिले और फिर वे लोग शाह के आवास पर गए जहां जेटली भी आए थे. लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में राजग के घटक दलों के बीच सीट बंटवारे की घोषणा में देर होने से भी लोजपा की बेचैनी बढ़ती नजर आ रही है. चिराग ने भी सीट बंटवारे की घोषणा में देर होने पर अपनी परेशानी जाहिर की है और कहा कि इससे सत्तारूढ़ गठबंधन (राजग) को नुकसान हो सकता है.

यूपीए का हिस्‍सा बने उपेंद्र कुशवाहा, ‘दिलों के बंधन’ से महागठबंधन को मिलेगी मजबूती!

गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव की तरह इस बार भी सात सीटों की मांग पर अड़ी लोक जनशक्ति पार्टी ने बुधवार को 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में राजग के बीच सीट बंटवारे को आगामी 31 दिसंबर तक अंतिम रूप दिए जाने की मांग की. लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और जमुई से सांसद चिराग पासवान ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा था ‘टीडीपी और रालोसपा के एनडीए गठबंधन से जाने के बाद एनडीए गठबंधन नाज़ुक मोड़ से गुज़र रहा है. ऐसे समय में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन में फ़िलहाल बचे हुए साथियों की चिंताओं को समय रहते सम्मान पूर्वक तरीके से दूर किया जाए.

चिराग के ‘नुकसान संभव’…वाले बयान के बाद अब LJP ने यूपी और झारखंड में की सीटों की मांग

उन्होंने कहा था ‘गठबंधन की सीटों को लेकर कई बार भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से मुलाक़ात हुई लेकिन अभी तक कुछ ठोस बात आगे नहीं बढ़ पाई है. इस विषय पर समय रहते बात नहीं बनी तो इससे नुक़सान भी हो सकता है. लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष और बिहार की राजग सरकार में मंत्री पशुपति कुमार पारस ने चिराग के ट्वीट को सही और पार्टी की भावना के अनुकूल बताते हुए कहा कि राजग में सीट बंटवारे में काफी विलंब हो रहा है .उन्होंने आरोप लगाया कि राजग में सबसे बडी पार्टी इसका नेतृत्व कर रही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को सभी दलों को साथ बिठाकर सीटों का बंटवारा करना चाहिए था पर ऐसा उन्होंने नहीं किया.

(इनपुट-भाषा)