पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अमृतसर में दशहरा मेले के दौरान हुए रेल हादसे में बिहार से ताल्लुक रखने वाले मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया. अमृतसर में हुए हादसे में 59 मृतकों में बिहार के चार लोग शामिल हैं. एक सरकारी विज्ञप्ति में यहां कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने प्रत्येक मृतक के परिजन को दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया है. Also Read - Covid-19: जेल से बाहर आए लालू यादव ने ऑनलाइन मीटिंग में आरजेडी वर्कर्स से की बातचीत

Also Read - अब स्कूटी वाली महिला ने पुलिस से की बदसलूकी, पीएम मोदी और नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का किया इस्तेमाल

बयान के मुताबिक, अनुग्रह राशि की रकम में से आधी राशि मुख्यमंत्री राहत कोष और बाकी हिस्सा ‘प्रवासी मजदूर दुर्घटना अनुदान योजना’ के तहत दिया जाएगा. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में रेल मंत्री रह चुके कुमार ने जन हानि पर दुख जताते हुए रेल की पटरियों के पास दशहरा कार्यक्रम के आयोजन की तैयारियों के स्तर पर सवाल किया. Also Read - Bihar Lockdown Update: कोरोना संकट के बीच नीतीश कुमार की अपील- अभी रोक दीजिए शादी-विवाह क्योंकि...

यूपी-बिहार के थे ट्रेन हादसे में मारे गए अधिकतर लोग, मजदूरी के बाद देखने गए रावण दहन

मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि रेलवे लाइन के पास इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन करने के लिए उच्च स्तर की सतर्कता और तैयारी की जरूरत होती है. हमें नहीं पता कि रेलवे को वहां दशहरा कार्यक्रम के आयोजन करने के बारे में पहले जानकारी दी गई थी, लेकिन ऐसे स्थानों पर कार्यक्रम के आयोजकों और इसकी इजाजत देने वालों को सतर्कता बरतने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि आखिरकार ट्रेन पटरियों पर ही चलेगी. यह अचानक से मुड़ नहीं सकती है. इससे भी ज्यादा, यह अक्सर मुमकिन नहीं होता है कि एक दम से ब्रेक लगा दिए जाएं.