Bihar Assembly Election 2020: बिहार में जहां चुनाव की सरगर्मी तेज है वहीं राजद में उथल-पुथल मची है. पता चला है कि राजद के वरिष्ठ नेता और लालू के चहेते रघुवंश प्रसाद सिंह इन दिनों पार्टी से नाराज चल रहे हैं. रघुवंश प्रसाद के पार्टी छोड़ने की संभावना पर लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने तीखी टिप्पणी की थी और कहा था कि राजद समुद्र की तरह है उसमें से एक लोटा पानी चला भी जाएगा तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा. Also Read - बिहार में पोस्टर वार: 'एक ऐसा परिवार जो बिहार पर भार' लालू 'सजायाफ्ता कैदी नंबर 3351'

तेजप्रताप के इस बयान के बाद कहा जा रहा है कि लालू तेजप्रताप से नाराज हैं और उन्हें लालू ने रांची तलब किया है. जिसके बाद वो  आज पिता लालू यादव से मिलने रांची जा रहे हैं. उनके आज देर रात तक रांची पहुंचने की संभावना है. तेजप्रताप यादव ने पिता की नाराजगी सामने आने के बाद सफाई में कहा था कि मीडिया में उनके बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. Also Read - बिहार: विधायक जी ने दी धमकी-अगर हम हारे तो तुम्हारे गांव में अकाल पड़ेगा, Video पर बवाल

गुरुवार को तेजप्रताप पिता लालू यादव से मिल सकते हैं. लालू यादव तेजप्रताप से नाराज हैं और लालू यादव की कोशिश है कि चुनाव से पहले रघुवंश प्रसाद की नाराजगी को दूर किया जाए और उन्हें पार्टी छोड़ने से रोका जाए. Also Read - कोसी-मिथिलांचल के दिलों को जोड़ेगा महासेतु, 86 साल का लंबा इंतजार आज हुआ खत्म

दूसरी ओर ये भी जानकारी मिल रही है कि पिता के साथ मुलाकात में तेजप्रताप अपने विधानसभा क्षेत्र (महुआ) को भी बदले के संबंध में बात कर सकते हैं. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार तेजप्रताप विधानसभा सीट हसनपुर से चुनाव लड़ना चाहते हैं.

बता दें कि लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप ने 2015 का विधानसभा चुनाव वैशाली जिले के महुआ से लड़ा था और जीत दर्ज की थी. तब जदयू महागठबंधन में शामिल था और महुआ विधानसभा क्षेत्र में जदयू की मजबूत पकड़ है. इस बार अगर तेजप्रताप यादव वहां से चुनाव लड़ते हैं तो उन्हें कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा. इसीलिए शायद सेफ सीट की तलाश में तेजप्रताप ने हसनपुर से चुनाव लड़ने का मन बनाया है.