मुजफ्फरपुर: जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के काफिले पर गुरुवार को बिहार के मुजफ्फरपुर के खबड़ा के पास कुछ अज्ञात लोगों ने हमला किया. इस हमले में पप्पू यादव को हल्की चोटें भी आई हैं. सांसद ने आरोप लगाया है कि उनकी ‘हत्या करने की साजिश’ की जा रही है. Also Read - Muzaffarpur shelter home case: दिल्‍ली की कोर्ट ने ब्रजेश ठाकुर को उम्रकैद सुनाई

पप्पू ने अपने काफिले पर हुए हमले की जानकारी देते हुए ट्विटर पर लिखा, “महाजंगलराज का नंगा नाच. ‘नारी बचाओ पदयात्रा’ में मधुबनी जाने के दौरान हमारे काफिले पर ‘बिहार बंद’ के नाम पर गुंडों ने हमला किया, कार्यकर्ताओं को बुरी तरह जाति पूछ-पूछकर पीटा है. आखिर बिहार में कोई शासन-प्रशासन है, या नहीं! मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आप किस कुम्भकर्णी नींद में सोए हुए हैं?” Also Read - Muzaffarpur shelter home case: लड़कियों के यौन शोषण कांड में ब्रजेश ठाकुर समेत 19 लोग दोषी करार

बाद में, पप्पू यादव ने फोन पर बताया, “हमलावरों ने मुझ पर भी हमला किया. मैं तो जातिवाद की राजनीति से दूर रहा हूं.” उन्होंने कहा कि अगर उनके सुरक्षा में लगे जवान नहीं होते तो उनकी हत्या निश्चित हो जाती. उन्होंने इस हमले में मुजफ्फरपुर आश्रयगृह में यौनचार मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के गुंडों का हाथ बताते हुए कहा, “हमलोग समाज में व्याप्त बुराइयों के खिलाफ लगातार लड़ाई लड़ रहे हैं.” उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ हमलावरों के हाथ में पिस्तौल थी.

‘प्रात:कमल’ अखबार की आड़ में घिनौना धंधा करने वाला ब्रजेश ठाकुर अभी जेल में है. गौरतलब है कि पप्पू अपनी पार्टी द्वारा छह सितंबर को मधुबनी जिले के बासोपट्टी से शुरू होने वाली ‘नारी बचाओ यात्रा’ में शामिल होने जा रहे थे. यह यात्रा 13 सितंबर को पटना में पूरी होगी.