सीतामढ़ी: बिहार के सीतामढ़ी पुलिस की हिरासत में दो लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. इस मौत के बाद मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और थाना प्रभारी सहित आठ पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि 20 फरवरी को हत्या और लूट के एक मामले में पूर्वी चंपारण जिले के चकिया थाना क्षेत्र के रामाडीह गांव से बुधवार की शाम मोहम्मद गुफरान (30) और तस्लीम आलम (32) को गिरफ्तार कर डुमरा थाना के हाजत में रखा गया था.

आरोप है कि पूछताछ के दौरान इनकी जमकर पिटाई की गई, जिससे इनकी तबियत बिगड़ने लगी. पुलिस आनन-फानन में दोनों को सीतामढ़ी सदर अस्पताल ले गई, जहां डॉक्‍टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया. सीतामढ़ी के जिलाधिकारी डॉ़ रंजीत सिंह ने बताया कि दोनों की लूट और हत्या के मामले में गिरफ्तारी हुई थी.

जिलाधिकारी डॉ. सिंह ने कहा, “अचानक तबियत बिगड़ने के बाद दोनों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां दोनों की बुधवार की देर शाम मौत हो गई. मामले की जांच के लिए सीतामढ़ी (सदर) के अनुमंडल पदाधिकारी के नेतृत्व में एक टीम गठित कर दी गई है, जो पूरे मामले की जांच करेगी.” उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

सीतामढ़ी के पुलिस अधीक्षक डी़ अमरकेश ने बताया, “डुमरा थाना प्रभारी चंद्रभूषण सिंह सहित आठ पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और दोनों शवों का दंडाधिकारी की उपस्थिति में पोस्टमार्टम कराया गया है.” उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का सही पता चल सकेगा. पूरे मामले की जांच की जा रही है.