Bihar News बिहार के खगड़िया जिले के महेशखूंट थाना क्षेत्र में सोमवार को एक स्कूल की दीवार गिर जाने से छह लोगों की मौत हो गई. इस घटना के बाद अफरा-तफरी की स्थिति बन गई. इस बीच, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घटना पर दुख प्रकट करते हुए मृतकों के परिजनों को तत्काल चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिए हैं. Also Read - Lalu Prasad Yadav: चारा घोटाला मामले में लालू को मिल गई जमानत, जल्द जेल से बाहर आएंगे राजद सुप्रीमो

महेशखूंट के थाना प्रभारी नीरज कुमार ठाकुर ने बताया कि चंडीटोला गांव स्थित मध्य विद्यालय के पास पंचायत समिति की ओर से एक नाले का निर्माण कराया जा रहा था. नाले के निर्माण के दौरान जेसीबी से नाले के लिए खुदाई की जा रही थी, तभी स्कूल की दीवार भरभरा कर गिर गई, जिसमें काम कर रहे मजदूर दब गए. Also Read - New Restrictions in Bihar: बिहार में लागू हुईं नाई पाबंदियां, कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते संग्रहालय, स्टेडियम, जिम बंद

उन्होंने बताया कि घटना के समय यहां 11 मजदूर काम कर रहे थे. जैसे ही दीवार गिरी पांच मजदूर भाग गए, जबकि छह दीवार के नीचे दब गए, जिससे उनकी मौत हो गई. उन्होंने कहा कि सभी शवों को मलबे से बाहर निकाल लिया गया है. Also Read - Bihar में क्‍या सख्‍ती बढ़ेगी? CM नीतीश कुमार ने सीनियर अफसरों, डीएम, एसपी की बुलाई हाई लेविल मीटिंग

घटनास्थल पर पहुंचे गोगरी के अनुमंडल पदाधिकारी सुभाष चंद्र मंडल ने आईएएनएस को बताया कि इस घटना में छह मजदूरों की मौत हो चुकी है. उन्होंने कहा कि अब मलबे में किसी के भी दबे होने की आशंका नहीं है. इधर, मुख्यमंत्री ने चंडीटोला गांव में स्कूल की दीवार गिरने से छह लोगों की मौत पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए इस हादसे को अत्यंत दुखद बताया है. उन्होंने कहा कि वे इस घटना से मर्माहत हैं.

मुख्यमंत्री ने मृतक के परिजनों को अविलंब चार-चार लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया, जिसके बाद सभी मृतकों के परिजनों को उक्त राशि दे दी गई है.

(इनपुट आईएएनएस)