पटना: बिहार के मुजफ्फरपुर में एक विचाराधीन महिला कैदी के साथ दुष्कर्म की वारदात सामने आई है. मुकदमे का सामना कर रही कैदी के साथ सरकारी अस्पताल में दो पुरुषों ने दुष्कर्म किया, जहां उसे उपचार के लिए भर्ती कराया गया था. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. Also Read - बिहार: बीजेपी ने सुशील कुमार मोदी को बनाया राज्यसभा उम्मीदवार, राम विलास पासवान के निधन से खाली हुई थी सीट

Also Read - 'जेल से NDA के विधायकों को फोन पर मंत्री पद का लालच दे रहे हैं लालू यादव', सुशील मोदी ने शेयर किया मोबाइल नंबर

  Also Read - Love Jihad पर विवाद, बिहार में उठी कानून बनाने की मांग, महाराष्ट्र ने कहा-हमें जरूरत नहीं

पुलिस के मुताबिक, यह मामला शुक्रवार को तब सामने आया, जब श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल से लौटने के बाद पीड़िता ने जेल अधीक्षक को इस बारे में सूचित किया. पीड़िता सीतामढ़ी जिले के एक जेल में हैं. मुजफ्फरपुर के अहियापुर पुलिस थाने के प्रभारी अधिकारी मनोज कुमार सिंह ने कहा कि पीड़िता की लिखित शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है. सीतामढ़ी के जिला मजिस्ट्रेट रंजीत कुमार सिंह ने कहा कि मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी और जल्द ही आवश्यक कार्रवाई होगी.

UP: ट्रेन में सिगरेट पीने से रोका तो सिरफिरे युवक ने महिला को गला दबाकर मार डाला

सीतामढ़ी जेल में बंद महिला के साथ 11 नवंबर को घटी घटना

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, कोर्ट के आदेश पर अपहरण कांड में बीते एक साल से सीतामढ़ी जेल में बंद महिला को 11 नवंबर को इलाज के लिए पुलिस अभिरक्षा में सीतामढ़ी सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां से उसकी हालत में सुधार नहीं होने पर 13 नवंबर को डाक्‍टरों ने उसको एसएकेएमसीएच मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया. जहां पर 22 नवंबर को महिला बंदी की तबीयत में सुधार होने के बाद सीतामढ़ी मंडल कारागार में लाया गया. जहां पर महिला बंदी ने 14 नवंबर को इलाज के दौरान एसकेएमसीएच में उसके साथ दुष्कर्म किए जाने की बात जेलर को बताई. जिसे गंभीरता से लेते हुए जेलर ने डीएम सहित उन्‍य अधिकारी को सूचना देते हुए एफआईआर के लिए बंदी को डुमरा थाना भेज दिया. (इनपुट एजेंसी)