नई दिल्लीः हाल ही में बिहार (Bihar) के अररिया (Araria) जिले का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते ड्यूटी पर तैनात एक होमगार्ड के जवान ने जब अफसर से पास मांगा तो उसने होमगार्ड को सबसे सामने उठक बैठक लगवाना शुरू कर दिया. वीडियो के सामने आने के बाद इस घटना की हर तरफ निंदा हुई. यही नहीं बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने भी इस घटना पर नाराजगी जाहिर की थी. इस बीच खबर सामने आई है कि, होमगार्ड के उठक-बैठक करने के दौरान घटनास्थल पर मौजूद एक एएसआई को निलंबित कर दिया गया है. Also Read - 5,000 के पार पहुंची कोविड-19 से मरने वालों की संख्या, कल से शुरू होगा लॉकडाउन से निकलने का पहला चरण; 13 बड़ी बातें

दरअसल, एएसआई गोविंद सिंह घटना के दौरान होमगार्ड के जवान पर चिल्लाते हुए दिख रहे थे. अपनी ड्यूटी कर रहे जवान का समर्थन करने के बजाय एएसआई ने उस पर चिल्लाना शुरू कर दिया. जिसके बाद एएसआई गोविंद सिंह को निलंबित कर दिया गया है. रही बात कृषि पदाधिकारी की तो अफसर के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई शुरू हो गई है और जिला अधिकारी भी इस मामले की जांच कर रहे हैं. Also Read - दिल्ली में कोरोना का नया रिकॉर्ड, 1 दिन में 1163 नए मामले सामने आए

मिली जानकारी के मुताबिक, जांच रिपोर्ट आने के बाद इसके आधार पर कृषि पदाधिकारी पर भी कार्रवाई की जा सकती है. बता दें कृषि पदाधिकारी का हाल ही में वीडियो सामने आया था, जिसमें वह कोरोना वायरस के चलते देश में लगे लॉकडाउन के बाद ड्यूटी में तैनात एक होमगार्ड के जवान से कान पकड़कर उठक बैठक लगवाना शुरू कर दिया. वह भी इसलिए कि जवान जिस तरह से हर आने-जाने वाले का पास देख रहा था, वैसे ही उसने कृषि पदाधिकारी से भी पास की मांग कर दी. जिस पर अफसर भड़क गए और जवान से सबके सामने उठक-बैठक करवाई.