Bihar Aeesmbly Election 2020 1st Phase: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में आज कड़ी सुरक्षा के बीच 16 जिलों की 71 सीटों पर सुबह सात बजे से मतदान प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. पहले चरण में राज्य के आठ मंत्रियों सहित 952 पुरुष व 114 महिला प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला राज्य के 2 करोड़ 14 लाख 84 हजार 787 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर करेंगे. Also Read - रांची से बैठे-बैठे लालू कर रहे डीलिंग-एब्सेंट हो जाओ, तुमको आगे बढ़ा देंगे, Audio हुआ Viral

पहले चरण में 1 करोड़ 12 लाख, 76 हजार 396 पुरुष, 1 करोड़ 01 लाख 29 हजार 101 महिला और 599 थर्ड जेंडर के मतदाता शामिल हैं. इनके अतिरिक्त 78 हजार 691 सर्विस वोटर मतदान करेंगे. पहले चरण के मतदान में 4 लाख 45 हजार 628 नये वोटर अपना वोट डालेंगे, जिसे लेकर राज्य में 31,380 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. Also Read - बिहार में तीन दिन के शिक्षामंत्री, मेवालाल चौधरी ने मंत्री पद संभालते ही दे दिया इस्तीफा, जानिए

28 अक्टूबर को सुबह सात बजे से मतदान प्रारंभ हो गया है. 28 से धारा 144 भी लागू है और सभी क्षेत्रों में  28 अक्टूबर के 04:00 बजे अपराह्न तक राजनीतिक प्रकृति के बल्क एसएमएस भेजने पर प्रेषण प्रतिबंध लगाया गया है. Also Read - बिहार में मेवालाल पर बवाल, लालू ने ट्वीट कर कसा सीएम नीतीश पर तंज-शिक्षामंत्री कैसे बना दिए

कड़ी सुरक्षा के बीच होगा मतदान
पहले चरण के चुनाव को लेकर सभी मतदान केंद्रों पर अर्द्वसैनिक बलों की तैनाती की गयी है, जिसमें केंद्रीय पारा मिलिट्री फोर्स की 483 कंपनियों को तैनात किया गया है. वहीं, विशेष हेलीकॉप्टर से अर्द्धसैनिक व पुलिस बलों के वरीय अधिकारी व जवान आकाश मार्ग से निगरानी रखेंगे. स्थानीय पुलिसकर्मियों के द्वारा मतदान क्षेत्रों में गश्ती की जाएगी तो वहीं नाव से दियारा इलाकों पर कड़ी नजर रखी जाएगी.

31,380 ईवीएम का होगा इस्तेमाल
पहले चरण के चुनाव को लेकर 31 हजार 380 ईवीएम व 31,403 बैलेट यूनिट का इस्तेमाल किया जाएगा. वहीं, मतदाताओं को मतदान के बाद अपने वोट को देखने के लिए 31,380 वीवी पैट का इस्तेमाल किया जाएगा.

कोरोना को लेकर ये हैं गाइडलाइंस

-कोविड-19 के बीच हो रहे चुनाव के मद्देनजर निर्वाचन आयोग ने सुरक्षित मतदान के लिये दिशानिर्देश जारी किये हैं.

-इन दिशानिर्देशों के तहत एक मतदान केंद्र में मतदाताओं की संख्या 1600 से घटाकर 1000 कर दी गयी है.

-80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिये पोस्टल बैलेट की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है.

-इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन को सेनिटाइज करना, मतदान कर्मियों के लिये मास्क और सुरक्षा सामग्री और थर्मल स्कैनर, हैंड सेनिटाइजर, साबुन और पानी उपलब्ध कराना शामिल है.

मतदान के दौरान मिली है ये छूट

– निर्वाचन कार्य में लगे वाहन जा सकेंगे.

– मतदाता निजी वाहन से मतदान के लिए जा सकेंगे, वाहन को मतदान केंद्र से दो सौ मीटर पहले रोकना होगा.

– निजी नौका के परिचालन पर रोक रहेगी, केवल निर्वाचन कार्य और आपातकालीन सेवा से जुड़े नौका का ही परिचालन होगा.

– आपात सेवाओं जैसे एंबुलेंस, पानी टंकी, विद्युत की संकटकालीन सेवा, मिल्क वाहन, रोगी को अस्पताल ले जाने वाले वाहन के परिचालन की अनुमति होगी.

– सार्वजनिक बस, जो निश्चित स्थानों के लिए निश्चित मार्गो पर चलाई जाती है.

– चुनाव कार्य में लगे पुलिस पदाधिकारियों, पुलिस कर्मियों एवं सीपीएफ के उपयोग में आने वाले वाहन एवं उनके आग्नेयास्त्र

-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्रवाई