Bihar Assembly Election 2020: जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ रही है वैसे-वैसे बिहार विधानसभा का चुनाव रोचक होते जा रहा है. विधानसभा चुनाव से जुड़े भाजपा के विज्ञापनों एवं पोस्टरों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर नहीं होने को लेकर अब कांग्रेस पार्टी ने जदयू के साथ सहानुभूति कार्ड खेला है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को दावा किया कि भाजपा ने नीतीश को अभी पोस्टर से गायब किया है, लेकिन 10 नवंबर को बिहार से ही गायब कर देगी. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि नीतीश कुमार के खिलाफ लोजपा प्रमुख चिराग पासवान की बयानबाजी के पीछे भाजपा है. Also Read - West Bengal Latest News: 50 से ज्‍यादा TMC नेता बीजेपी में होंगे शामिल, भाजपा सांसद का दावा

बिहार से संबंधित कांग्रेस की चुनाव प्रबंधन समिति के प्रमुख सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘सात नवंबर को मतदान खत्म होने के बाद भाजपा, जद (यू) को कूड़ेदान में डाल देगी. ये लोग नीतीश बाबू को दूध में से मक्खी की तरह निकालकर फेंक देंगे. इसीलिए लोक जनशक्ति पार्टी को जद (यू) की सारी सीटों पर खड़ा किया है और भाजपा के 50 उम्मीदवार लोजपा के चुनाव चिन्ह पर जदयू के खिलाफ लड़ रहे हैं.’’ Also Read - बिहार: बीजेपी ने सुशील कुमार मोदी को बनाया राज्यसभा उम्मीदवार, राम विलास पासवान के निधन से खाली हुई थी सीट

नीतीश कुमार की तस्वीरें भाजपा के पोस्टरों में नहीं होने का हवाला देते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘नीतीश कुमार अभी पोस्टर से गायब हुए हैं, लेकिन भाजपा 10 नवंबर (मतगणना के दिन) को उन्हें बिहार से गायब कर देगी. यही भाजपाई षड्यंत्र है.’’ सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘बिहार चुनाव में भाजपा तीन गठबंधन में चुनाव लड़ रही है. एक गठबंधन जद(यू) के साथ है जो दिख रहा है. दूसरा गठबंधन लोजपा के साथ है और तीसरा गठबंधन असदुद्दीन ओवैसी के साथ है.’’ Also Read - Latest News: टीएमसी MLA मिहिर गोस्वामी ने BJP ज्‍वाइन की, ममता बनर्जी को झटका

उन्होंने कहा कि राजद, कांग्रेस और वाम दलों का गठबंधन वैचारिक रूप से मजबूत है और ऐसे में जनता इसे एकमात्र विकल्प के तौर पर देख रही है. गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव में राजद और वाम दलों के साथ तालमेल करके मैदान में उतरी कांग्रेस 70 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. राजद 144 और वाम दल 29 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं. विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में 28 अक्टूबर, तीन नवंबर और सात नवंबर को मतदान होगा और मतगणना 10 नवंबर को होगी.

(इनपुट भाषा)