पटना: बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक आती जा रही है और अबतक पहले चरण का चुनाव प्रचार भी शुरू नहीं हो सका है. ऐसे में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को लालू प्रसाद यादव की कमी खलने लगी है. गौरतलब है कि चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव फिलहाल जेल में बंद हैं. चुनाव से पहले लालू प्रसाद यादव की जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी डाली गई थी, इस जमानत याचिक पर आज यानी शुक्रवार को सुनवाई होनी है. यह सुनावई झारखंड हाईकोर्ट में होगी. Also Read - Bihar Assembly Election 2020 : तेजस्वी का भाजपा पर निशाना, 'पहले महंगाई इनके लिए 'डायन' थी, अब 'भौजाई' बन गई'

लालू की जमानत याचिका में कहा गया है कि उन्होंने अपनी आधी सजा काट ली है. इस आधार पर उन्हें जमानत मिलनी चाहिए. हालांकि लालू को जमानत देने का सीबीआई विरोध कर रही है. सीबीआई का कहना है कि अलग अलग मामलों में लालू पर कई मामले चल रहे हैं. जब तक कोर्ट द्वारा सभी सजा को कोर्ट एक साथ चलने का आदेश नहीं देती तब तक सभी सजाएं अलग अलग आधार पर चलेंगी. ऐसे में जमानत तभी दी जाएगी, जब वे अपनी आधी सजा काट लेंगे. Also Read - सिर पर पल्लू ले ससुराल के खिलाफ सड़क पर उतरीं लालू की बहू ऐश्वर्या, पिता के लिए मांगा वोट

इस बाबत लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने जनता दल यूनाईटेड (JDU) पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि पूर्णिया में राजद के दलित नेता की हत्या मामले में मुझे और मेरे भाई पर आरोप लगाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जदयू ने हमपर झूठे आरोप लगाए हैं. बता दें कि तेजस्वी यादव नीतीश कुमार को पत्र लिखकर इस मामले की सीबीआई जांच की मांग भी कर चुके हैं. Also Read - Bihar 2nd Phase Election 2020: बिहार में चुनाव के बीच IT की अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई, नल-जल योजना पर आफत

तेजस्वी का कहना है अबतक राजद नेता की हत्या मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. उनके बयानों से राजनीतिक साजिश के तहत मेरा और मेरे भाई का नाम घसीटा जा रहा है यह साफ है. हमपर झूठे आरोप लगाए गए हैं. बता दें कि बिहार विधानसभा चुनावों की तारीख तय हो चुकी है. ऐसे में लालू को जमानत मिलेगी या नहीं इससे राजनीतिक फायदा भी राजद को हो सकता है.