Bihar Assembly Election 2020: इस बार का चुनाव कई मायनों में बेहद दिलचस्प होनेवाला है. कई हॉट सीटों पर ऐसे प्रतिद्वंद्वी आमने-सामने होंगे जो पिछले चुनाव में एक ही गठबंधन में थे. इनके अलावा इस बार ऐसी एक जंग समस्तीपुर के हसनपुर में होती दिख रही है, जहां लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप के खिलाफ उनकी पत्नी ऐश्वर्या राय चुनाव मैदान में उन्हें चैलेंज दे सकती हैं. इसकी प्रबल संभावना है.Also Read - Bihar Mayor Murder News: रात में कटिहार के महापौर की हमलावरों ने गोली मारी, अस्‍पताल पहुंचते ही हुई मौत

कहा तो ये जा रहा है कि पत्नी ऐश्‍वर्या राय (Aishwarya Rai) के डर से तेजप्रताप वैशाली की महुआ की अपनी सीट छोड़ कर समस्तीपुर के हसनपुर से चुनाव लड़ने की तैयारी में लगे हैं. लेकिन यहां भी वो खुद को सुरक्षित नहीं मान सकते हैं क्योंकि उनकी पत्नी जदयू के टिकट पर मुसीबत बनकर खड़ी हो सकतीं हैं. Also Read - Bihar News: प्रेमिका के घरवालों ने प्रेमी की पीट-पीटकर कर दी हत्या, हफ्ते भर के भीतर दूसरी ऐसी घटना

इस बार के चुनाव में लालू की बड़ी बहू ऐश्‍वर्या लालू परिवार से ही  खिलाफत कर अपने अपमान का बदला लेंगी और चुनावी जंग में इमोशनल कार्ड चलतीं नजर आएंगीं तो उनके पिता चंद्निका राय भी बेटी के अपमान का बदला लेने के लिए दामाद तेजप्रताप की बखिया उधेड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. Also Read - Bihar Assembly Session: बिहार विधानसभा में जोरदार हंगामा, सदन में RJD विधायक ने कहा 'बेईमान'

बता दें कि तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की शादी के कुछ दिनों बाद ही दोनों में विवाद पैदा हो गया था और रिश्ते की खटास की खबर कोर्ट तक पहुंची जब तेजप्रताप यादव ने पत्नी से तलाक की अर्जी लगाई और उसके बाद दोनों परिवारों में भी विवाद शुरू हो गया जिसकी खबर घर से निकलकर सड़क तक पहुंच गई थी.

इसके बाद से ऐश्वर्या राय अपने पिता के घर में रह रही हैं और कोर्ट में तलाक की सुनवाई चल रही है. अभी तक फैसला नहीं आया है. बता दें कि लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी राजद के विधायक रहे चंद्रिका राय (Chandrika Rai) की बेटी ऐश्‍वर्या राय के साथ हुआ है. दोनों परिवारों के बीच रिश्ते इस कदर बिगड़ चुके हैं कि चंद्रिका राय ने राजद छोड़ जदयू ज्वाइन कर लिया है.

जदयू ज्वाइन करने के बाद ही चंद्रिका राय ने इशारा किया था कि उनकी बेटी ऐश्वर्या राय इस बार चुनाव लड़ेंगी. इस तरह से कहा जा रहा है कि ऐश्‍वर्या राय ने भी लालू परिवार को चुनावी पटखनी देकर सबक सिखाने का मन बनाया है. ऐसे में अगर ऐश्‍वर्या अपने पति के खिलाफ मैदान में कूदती हैं तो उन्हें एनडीए का पूरा साथ मिलना तय है.

बीते विधानसभा चुनाव में हसनपुर सीट पर जेडीयू के राजकुमार राय जीते थे अब अगर ऐश्‍वर्या राय को पार्टी यहां से मैदान में उतारती है, तो राजकुमार राय को दूसरी सीट पर शिफ्ट किया जा सकता है. राजकुमार को विधान परिषद भी भेजा जा सकता है. जेडीयू ने इस मुद्दे पर कोई आधिकारिक बयान  तो नहीं दिया है, लेकिन माना जा रहा है कि एनडीए में यह सीट जेडीयू के खाते में ही आएगी.