नई दिल्ली: नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी से अलग हुई लोक जनशक्ति पार्टी (Lok Janshakti Party) बिहार में अकेले चुनाव लड़ेगी. एलजेपी चीफ चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने कहा कि जेडीयू से अलग होकर हम महागठबंधन (आरजेडी+कांग्रेस सहित अन्य दल) में शामिल हो सकते थे, लेकिन हमने मुश्किल रास्ता चुना और ये बिहार के लिए है. चिराग पासवान ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए बिहार के कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने एक सवाल के जवाब में ये भी कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) मेरे छोटे भाई हैं. उन्हें मेरी शुभकामनायें. लोकतंत्र में जनता के पास ताकत है. अब जनता ही तय करेगी कि उनका नेता कौन होगा. Also Read - जंगलराज कायम करने वालों का नौकरी और विकास की बात करना मजाक: नीतीश कुमार

इसके साथ ही चिराग ने जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा कि बिहार का सिस्टम नहीं बदला. 2005 से अब तक का कार्यकाल देखें तो नीतीश कुमार इस पर खरे नहीं उतर पाए हैं. बिहारी के तौर पर देखूं तो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बिहार में कुछ ख़ास नहीं कर पाया. बिहार में पलायन की समस्या है. गाँवों में बहुत समस्याएं हैं. Also Read - वित्त मंत्री ने फिर दोहराया, 'बिहार चुनाव घोषणा-पत्र में फ्री कोरोना टीके का वादा बिल्कुल सही'

चिराग ने कहा कि ‘बिहार पहले, बिहारी पहले’ हमारी प्राथमिकता है और ये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विज़न से प्रेरित है. चिराग ने ये भी कहा कि बीजेपी से बिहार चुनाव में सीटों को लेकर उनकी कोई बात नहीं हुई थी, लेकिन हमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भरोसा है. उन्होंने एक बार डबल इंजन की सरकार कहा था. उनकी ये बात इस चुनाव में असर कर सकती है. Also Read - तेजस्वी के कड़े तेवर- नीतीश को दी खुली चुनौती, BJP से पूछा तीखा सवाल-बताईए, सीएम का चेहरा कौन