Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखें घोेषित हो चुकी हैं, लेकिन एनडीए और महागठबंधन के घटक दलों के बीच अभीतक सीट शेयरिंग का विवाद सुलझा नहीं है. सीट शेयरिंग को लेकर मचे घमासान के बीच एनडीए के घटक दल में शामिल लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने सोमवारा की देर शाम भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद सियासी अटकलों का बाजार गर्म है.Also Read - Tej Pratap Yadav Hair Style: लालू के लाल तेजप्रताप ने बताया अपने सॉफ्ट एंड सिल्की हेयर का राज, जानिए क्या कहा...

चिराग की नड्डा से मुलाकात हुई, क्या बात हुई… Also Read - चिराग पासवान को एक और झटका, चाचा पशुपति पारस ने सात राज्यों में नियुक्त किए LJP के नए प्रदेश अध्यक्ष

लोजपा-भाजपा अध्यक्ष की मुलाकात के बाद सबके जेहन में यही सवाल है कि क्या चिराग पासवान भाजपा की ऑफर की गई 27 सीटों पर मान जाएंगे. लोकजनशक्ति पार्टी ने 30 से ज्यादा सीटों की डिमांड की थी, लेकिन भाजपा ने पहले 20-25 सीटों का ऑफर दिया फिर उसे बढ़ाकर अब 27 कर दिया है. सूत्र बता रहे हैं कि चिराग पासवान की कोशिश और ज्यादा सीटें हासिल करने की है. ऐसे में चिराग पासवान क्या फैसला लेंगे, इसपर सबकी निगाह रहेगी. Also Read - 82 Teeth: बिहार में अजब-गजब मामला, Nitish Kumar के जबड़े से निकाले गए 82 दांत

पिछली बार लोजपा को मिली थीं ज्यादा सीटें

साल  2015 के बिहार विधानसभा चुनाव की बात करें तो उस वक्त लोजपा को गठबंधन की 42 सीटें मिली थीं. उस वक्त जदयू गठबंधन का हिस्सा नहीं थी. इस बार ज्यादा सीटें जदयू के खाते में जाने की उम्मीद है जिसकी वजह से लोजपा का समीकरण सही नहीं बैठ रहा है और वो नाराज चल रही है. इससे पहले चिराग ने 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की भी बात कही थी. अब जोड़-घटाव के बाद पार्टी की कोशिश है कि इस बार भी 30 से ज्यादा सीटें उसे मिलनी चाहिए.

चिराग ने नीतीश पर उठाए कई सवाल

यही नहीं लोजपा प्रमुख चिराग पासवान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कामकाज की अक्सर आलोचना करते रहे हैं और अपना अलग स्लोगन भी जारी कर दिया था. चिराग ने नीतीश कुमार के कई फैसलों पर सवाल उठाए हैं. जदयू-लोजपा के बीच जारी विवाद के बाद जदयू ने भी लोजपा के खिलाफ उम्मीदवार उतारने की बात कह दी थी.

जदयू भी चिराग से खुश नहीं, भाजपा बनाए रखना चाहती दोस्ती

चिराग नीतीश पर हमलावर रहे हैं तो नीतीश कुमार भी चिराग पासवान के रवैये से काफी नाराज बताए जा रहे हैं. हालांकि, बीजेपी की कोशिश है कि चिराग पासवान को एनडीए में रखा जाए. इसी बीच चिराग पासवान और जेपी नड्डा के बीच ये मुलाकात हुई है तो देखना होगा इस मुलाकात का क्या नतीजा निकलता है.

तीन अक्टूबर को एनडीए करेगा सीट बंटवारे का ऐलान

वहीं ये भी कहा जा रहा है कि 3 अक्टूबर से पहले एनडीए की ओर से सीट बंटवारे का ऐलान कर दिया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक, बिहार चुनाव के लिए NDA ने अपना फॉर्मूला लगभग तैयार कर लिया है, जिसके हिसाब से  जेडीयू 103 और बीजेपी 101 सीट पर चुनाव लड़ने जा रही है. जेडीयू ने ज्यादा सीटों की मांग जरूर की है, लेकिन सीट बंटवारे का फॉर्मूला 2010 की तरह ही करने की बात भी कही गई है.