Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव में शुक्रवार को पहली बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तीन चुनावी जनसभाओं को संबोधित करेंगे और उनके साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मंच पर मौजूद रहेंगे. एक दिवसीय दौरे पर आ रहे प्रधानमंत्री सासाराम, गया और भागलपुर में आज तीन चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे. पीएम की रैली को लेकर पुलिस-प्रशासन के साथ ही भाजपा और एनडीए ने पूरी तैयारी कर रखी है.Also Read - चिराग पासवान ने 'जहरीली शराब' को लेकर राज्यपाल को लिखी चिट्ठी, बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की

तीन रैलियों को संबोधित करेंगे पीएम मोदी Also Read - Bihar Liquor Ban News: कोर्ट की फटकार के बाद शराबबंदी कानून बदलेगी नीतीश सरकार, जानिए क्या होगा बदलाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सबसे पहले सासाराम में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे. सुबह 11 बजे सासाराम में होने वाली इस चुनावी जनसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद डॉक्टर संजय जायसवाल सहित अन्य नेता भी मौजूद रहेंगे. सासाराम की रैली से भाजपा के 12, जदयू के 12 और वीआईपी के 1 उम्मीदवार एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र से पीएम की रैली से वर्चुअल रूप से जुड़ेंगे. Also Read - जानिए क्या है Teleprompter और कैसे करता है काम? जिसे लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कसा तंज

इस रैली के बाद आज एक बजे पीएम मोदी गया में चुनावी रैली को संबोधित करेंगे. गया में केंद्रीय गृहराज्यमंत्री नित्यानंद राय, पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फं ललन सिंह, सुशील कुमार सिंह और चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी सहित अन्य नेता मंच पर मौजूद रहेंगे. गया की रैली में भाजपा के नौ, जदयू के छह और हम के चार उम्मीदवार विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल रूप से जुड़ेंगे.

प्रधानमंत्री की तीसरी  रैली भागलपुर में है जहां वे तीन बजे जनता को संबोधित करेंगे. इस रैली में मंच पर पीएम के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित एनडीए के अन्य नेता मौजूद रहेंगे. इस रैली से भाजपा के 10, जदयू के 13 और हम के एक उम्मीदवार विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों से एनडीए कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल रूप से जुडेंगे.

कोरोना निगेटिव लोग ही रैली का हिस्सा होंगे

पीएम की रैली स्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हर हाल में अनिवार्य होगा, मंच पर उन्हीं को जाने की अनुमति दी जाएगी जिन्होंने आज-कल में कोरोना जांच कराई है. मंच के सामने लगने वाली कुर्सियों को दूर-दूर रखा गया है. कार्यक्रम में कोई काला झंडा लेकर नहीं आए, इसके लिए हर गैलरी में कार्यकर्ताओं को लगाया गया है ताकि उपद्रव करने की कोशिश करने वाले या अनर्गल नारा लगाने वालों को तत्काल बाहर किया जा सके.

सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था
पीएम की रैली को देखते हुए सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यव्यवस्था की गई है.बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारी व जवानों की प्रतिनियुक्ति की गई है। पीएम की रैली के मद्देनजर पहले ही विशेष शाखा ने सात आईपीएस और चार डीएसपी रैंक के अधिकारी की ड्यूटी लगा दी थी. इसके अलावा एएसआई से लेकर इंस्पेक्टर रैंक के सैंकड़ों पुलिस अधिकारी व बीएमपी की विभिन्न बटालियन की कई कंपनियां जनसभा के मद्देनजर तीनों जिलों में भेजी गई है और साथ ही बम निरोधक दस्ता, डॉग स्क्वायड सहित अन्य सुरक्षात्मक भी प्रबंध किए गए हैं.