Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राजद नेता तेजस्वी यादव 23 अक्टूबर को अपनी पहली संयुक्त रैली को संबोधित करेंगे. कांग्रेस पार्टी सूत्रों ने बुधवार को ये जानकारी दी. महागठबंधन की एकता दिखाने और 28 अक्टूबर को होने वाले पहले चरण के मतदान से पहले पार्टी कार्यकतार्ओं में जोश भरने के लिए महागठबंधन के नेताओं द्वारा इस तरह की पहली रैली बिहार के नवादा जिले के हिसुआ में 23 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी. Also Read - किसान आंदोलन पर राहुल गांधी ने कहा- जब तक कृषि कानून वापस नहीं लिए जाते, तब तक जारी रहेगी लड़ाई

कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि रैली का मकसद बिहार के मतदाताओं को संदेश देना है कि महागठबंधन मजबूत हो और इसके सभी घटक दल एकजुट रहे. राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव अपने पिता लालू प्रसाद की अनुपस्थिति के बावजूद भारी भीड़ खींच रहे हैं. राजद नेता ने कहा कि संयुक्त रैली धार्मिक अल्पसंख्यकों को संदेश देगी कि वे एकजुट रहें क्योंकि जनता दल-यूनाइटेड भी उनको लुभाने की कोशिश में है. Also Read - तेजस्वी ने नीतीश पर की व्यक्तिगत टिप्पणी, सीएम बोले- राजनीति में आगे बढ़ना है तो ठीक से व्यवहार करना सीख लो

बिहार चुनाव प्रचार पूरे उफान पर है. रानीतिक दल ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं. आरजेडी नेता और सीएम पद के दावेदार तेजश्वी यादव की रैलियों में भारी भीड़ उमड़ रही है. इस भीड़ को बीजेपी और जेडीयू फर्जी बता रहे हैं. वहीं, आरजेडी और कांग्रेस इस भीड़ को देखकर उत्साह में है. Also Read - किसानों को दुनिया की कोई सरकार नहीं रोक सकती, मोदी सरकार को वापस लेने होंगे काले कानून: राहुल गांधी