Bihar Assembly Election 2020: जीतनराम मांझी के महागठबंधन (Grand Alliance) को छोड़कर एनडीए में आने के लग रहे कयासों पर जल्द ही मुहर लग जाएगी. लेकिन वो एनडीए में जाएंगे या जदयू में विलय करेंगे इसका फैसला वो 30 अगस्त को करेंगे. हालांकि उनके चेहरे की चमक बता रही है कि जीतनराम मांझी (Jitan Ram Manjhi) की एनडीए में एंट्री को लेकर डील पक्की हो गई है. Also Read - School Reopening News: इस राज्य में आज से खोले गए स्कूल, इन नियमों का रखना होगा खास ध्यान...

मांझी ने गुरुवार को नीतीश कुमार से उनके आवास पर की और मुलाकात के बाद हालांकि, मांझी ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं और कहा कि हमारे बीच कोई राजनीतिक बात नहीं हुई है. हमने अपने क्षेत्र के मुद्दों को लेकर मुख्‍यमंत्री से बात की है. मीडिया ने उनके एनडीए में शामिल होने की बात पूछी तो उन्‍होंने कहा कि 30 अगस्‍त तक इंतजार कर लीजिए. Also Read - तेजस्वी यादव का बयान- बिहार की जनता ने दिया मौका, तो 2 महीने में 10 लाख रोजगार दूंगा

ऐसी खबर मिल रही है कि मांझी और नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के बीच मांझी की दोबारा से एनडीए में एंट्री को लेकर अब बात बन गई है. अब यह मामला सिर्फ बीजेपी के कारण फंसा है. भाजपा की ओर से हरी झंडी मिलते ही मांझी की एनडीए में प्रवेश की औपचारिकताओं को पूरा कर लिया जाएगा. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: चुनाव से पहले भाजपा ने बदली टीम, कौन अंदर-कौन बाहर

मांझी और नीतीश कुमार के बीच हुई मुलाकात के बाद हम नेता दानिश रिजवान ने भी कहा है कि 30 अगस्त से पहले मांझी के एनडीए में शामिल होने की आधिकारिक घोषणा हो जायेगी.

जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक नीतीश कुमार हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा को विधानसभा चुनाव में 9 से 12 सीट देने को तैयार हैं, जबकि मांझी ने बिहार विधानसभा चुनाव की 15 सीटों की मांग रखी थी. मांझी ने  बीजेपी की कोटे वाली कुछ सीटों की मांग रखी थी, जिस पर अंतिम दौर में बातचीत चल रही है.