bihar assembly elections 2020: अगले महीने होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी रणनीति बनाने में जुटी हैं. इसी क्रम में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (Rashtriya Lok Samta Party) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि उनकी कि पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) और जनवादी पार्टी सोशलिस्ट (Janwadi Party Socialist) के साथ मिलकर लड़ेगी.Also Read - ब्राम्हणों के साथ के लिए बसपा को भी भाने लगी 'सॉफ्ट हिन्दुत्व' की राह, क्या कामयाब होंगी मायावती?

बता दें कि पहले ऐसी खबरें थीं कि रालोसपा बिहार में आरजेडी के नेतृत्व में महागठबंधन के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी. लेकिन अब रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने महागठबंधन का साथ छोड़ दिया है. अब उन्होंने बसपा के साथ मिलकर नया मोर्चा बनाने का ऐलान किया है. बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में, 28 अक्टूबर, तीन नवंबर और सात नवंबर को मतदान होगा जबकि सभी चरणों के लिए मतगणना 10 नवंबर को होगी. Also Read - UP: SBSP चीफ राजभर गठबंधन के लिए केजरीवाल से 17 को मिलेंगे, सपा से भी चल रही चर्चा

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा कर दी है लेकिन राज्य में दो मुख्य गठबंधनों की रूपरेखा को लेकर अभी तक अनिश्चितता बनी हुई है और कई दल अब भी गठबंधन की पसंद को लेकर असमंजस में दिख रहे हैं . सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में लोक जनशक्ति पार्टी का रुख अभी तक स्पष्ट नहीं है . पार्टी ने यह संकेत दिया है कि वह 143 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जिसमें वे सीटें शामिल होंगी जहां से जद(यू) चुनाव लड़ेगी, साथ ही वह भाजपा उम्मीदवारों का समर्थन करेगी. Also Read - चंद्रशेखर का बड़ा बयान- मायावती का वजूद खत्म, यूपी में अब आजाद समाज पार्टी है बसपा का विकल्प

लालू प्रसाद के राजद एवं कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन में भी स्थिति काफी उलझी हुई प्रतीत हो रही है जहां दो छोटे दल उपेंद्र कुशवाह की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के बाद अब विकासशील इंसान पार्टी भी गठबंधन छोड़ने की कगार पर पहुंच गई है .