Bihar Assembly Election 2020: बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार जोर-शोर से चल रहा है. सभी पार्टियों ने प्रचार के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. पहले चरण के चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन है. ऐसे में आज कई बड़ी रैलियां होंगी. बिहार में 28 अक्टूबर यानी बुधवार को पहले चरण का चुनाव होना है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राजद नेता तेजस्वी यादव समेत कई बड़े नेताओं की आज चुनावी सभा है.Also Read - Pankaj Singh's Profile: जानें बिहार में जन्मे, दिल्ली में पढ़े और नोएडा से विधायक पंकज सिंह का सफरनामा

Also Read - Dinesh Sharma's Profile: अटल बिहारी वाजपेयी ने मांगे थे जिनके लिए वोट, जानें उन दिनेश शर्मा के बारे में सब कुछ

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आज तीन रैलियां हैं वहीं, BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा दो जगहों पर रैली को संबोधित करेंगे. उनकी पहली रैली औरंगाबाद में होगी तो दूसरी पूर्णिया में. नड्डा के अलावा बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अभिनेता-सांसद रवि किशन की भी रैली होनी है. बिहार में पहले फेज में 71 निर्वाचन क्षेत्र में मतदान होगा. Also Read - Rita Bahuguna Joshi बेटे को टिकट दिलाने के लिए सांसद का पद छोड़ने को तैयार! जेपी नड्डा को पत्र लिखकर कही यह बात

28 को इन जगहों पर होंगे चुनाव
पहले चरण में 28 अक्टूबर को भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, खगड़िया, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार जिले में वोट डाले जाएंगे.

दूसरे चरण का चुनाव
दूसरे चरण में 3 नवंबर को उत्तर बिहार के जिलों मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल और मधेपुरा जिले में वोट डाले जाएंगे.

तीसरे चरण का चुनाव
तीसरे चरण में 7 नवंबर को बोधगया सहित 7 जिले जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास,पटना सहित बक्सर, सारण, भोजपुर, नालंदा, गोपालगंज और सीवान में मतदान होंगे. इसके साथ ही मतों गिनती 10 नवंबर को होगी.

ओपिनियन पोल में एक बार फिर ‘नीतीश सरकार’
अलग-अलग एजेंसियों द्वारा किये गए ओपिनियन पोल में बिहार में एक बार फिर NDA की ही सरकार बनती दिख रही है. हालांकि नीतीश की लोकप्रियता को नुकसान पहुंचा है.

नीतीश का तेजस्वी पर हमला
नीतीश कुमार ने रविवार को एक चुनावी सभा के दौरान विरोध में नारेबाजी कर रहे युवकों से कहा कि वे अपने माता-पिता से जाकर ‘राजद शासनकाल’ के बारे में पूछ लें. उन्होंने युवकों से कहा कि उनकी मां सही-सही बात बताएंगी. मुजफ्फरपुर के कांटी में आयोजित एक चुनावी सभा के दौरान नीतीश कुमार की सभा में कुछ लोगों ने मुर्दाबाद के नारे लगाये. इस पर नीतीश ने नारेबाजी कर रहे लोगों से कहा, ‘क्यों मुर्दाबाद कह रहे हो, जिसको जिंदाबाद कह रहे हो उसको सुनने के लिये जाओ.’

उन्होंने कहा, ‘हम समाज को एक करने में लगे हुए हैं और वह लोग लगे हुए कि समाज को फिर बांट दो. फिर झगड़ा का माहौल पैदा कर दो.’ नीतीश ने नारेबाजी करने वाले युवकों से कहा, ‘आप लोगों को यहां कोई कुछ नहीं करेगा. 10 लोग हो और यहां हजारों लोग हैं. कोई तुमको कुछ नहीं करेंगे. कुछ करेंगे तो उनको लाभ मिलेगा.’

जेडीयू प्रमुख ने प्रदेश की पिछली राजद सरकार के शासन काल की ओर इशारा करते हुए नारेबाजी करने वालों से पूछा, ‘क्या हाल था, अपने माता-पिता से जाकर पूछ लो कि शाम होने के बाद घर से बाहर निकल पाते थे? स्कूल में पढ़ाई होती थी? कोई इलाज होता था? जरा जान लो. पूछ लो घर के अंदर और पिता ठीक नहीं बताएगा, लेकिन अपनी माता से पूछोगे वह सही बात बतला देगी.’