Bihar Assembly Polls 2020: बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है. चुनाव प्रचार में लोक लुभावन वादों का दौर भी जारी है. सत्ताधारी और विपक्षी पार्टियों ने अपने घोषणापत्र में नौकरी, कर्जमाफी समेत कई वादे किये हैं. बिहार में पहले फेज का चुनाव संपन्न हो चुका है और दूसरे दौर के लिए प्रचार अभियान जोर शोर से चल रहा है. इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने दूसरे चरण के मतदान से पहले आबादी के हिसाब से आरक्षण की हिमायत की है. उनका कहना है कि उनकी हमेशा से यही राय रही है और वह इस पर ही कायम हैं कि जातियों को उनकी आबादी के हिसाब से आरक्षण मिलना चाहिए.Also Read - Pankaj Singh's Profile: जानें बिहार में जन्मे, दिल्ली में पढ़े और नोएडा से विधायक पंकज सिंह का सफरनामा

Also Read - Dinesh Sharma's Profile: अटल बिहारी वाजपेयी ने मांगे थे जिनके लिए वोट, जानें उन दिनेश शर्मा के बारे में सब कुछ

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, ‘पश्चिमी चंपारण के वाल्मीकिनगर में गुरुवार को चुनावी जनसभा में बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू प्रमुख (Nitish Kumar On Reservation) ने कहा कि हम तो चाहेंगे कि जितनी आबादी है, उसके हिसाब से आरक्षण का प्रावधान होना चाहिए. इसमें हम लोगों की कहीं से कोई दो राय नहीं है.’ उन्होंने कहा कि जहां तक संख्या का सवाल है, जनगणना होगी तब उसके बारे में निर्णय होगा. यह निर्णय हमारे हाथ में नहीं है. Also Read - Rita Bahuguna Joshi बेटे को टिकट दिलाने के लिए सांसद का पद छोड़ने को तैयार! जेपी नड्डा को पत्र लिखकर कही यह बात

मुख्यमंत्री ने कहा, मुझे वोट की चिंता नहीं रहती है. आपने पहले काम करने का मौका दिया तब काफी काम किया. फिर काम करने का मौका मिला तो फिर आपके बीच आएंगे, आपके साथ बैठेंगे और कोई समस्‍या बची रह गई हो तो उसका समाधान करेंगे. बता दें कि वाल्मीकि नगर में थारू जाति के काफी वोट हैं और ये जाति जनजाति में शुमार करने की मांग उठा रही है. इसका ही समर्थन करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि जनगणना हम लोगों के हाथ में नहीं है, लेकिन हम चाहेंगे कि जितनी लोगों की आबादी है, उस हिसाब से लोगों को आरक्षण मिले.

नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि थारू को आरक्षण का फायदा दिलाने के लिए वो सालों से कोशिश कर रहे हैं. तब से जब से वो अटल सरकार में रेल मंत्री थे. असल में यहां प्रचार करने के लिए पहुंचे नीतीश के सामने थारू जाति ने पुरजोर तरीके से आरक्षण का मसला रखा था.

3 नवंबर को इन जगहों पर मतदान
बिहार में तीन चरण में विधानसभा चुनाव होने हैं और मतों की गिनती 10 नवबंर को होगी. राज्य में दूसरे चरण का चुनाव 3 नवंबर और तीसरे चरण का चुनाव 9 नवंबर को होना है. दूसरे चरण में 3 नवंबर को उत्तर बिहार के जिलों मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल और मधेपुरा जिले में वोट डाले जाएंगे. वहीं, तीसरे चरण में 7 नवंबर को बोधगया सहित 7 जिले जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास,पटना सहित बक्सर, सारण, भोजपुर, नालंदा, गोपालगंज और सीवान में मतदान होंगे.