पटना: बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुंबई के मेयर की सीबीआई को धमकी देने की निंदा करते हुए कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या मामले में शिवसेना का दामन भी दागदार है. ऐसे में सच को सामने लाने के लिए सीबीआई को शिवसेना नेता संजय राउत और आदित्य ठाकरे का नारको टेस्ट करना चाहिए. बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने मुम्बई की मेयर द्वारा सीबीआई को धमकी देकर पहुंचते ही क्वारंटाइन करने की चेतावनी देने को निंदनीय करार देते हुए कहा कि इससे स्पष्ट हो गया है कि बीएमसी ने महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर ही बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटाइन किया गया था. Also Read - सुशांत सिंह राजपूत की इस बात से बहुत चिढ़ जाते थे धोनी, बायोपिक रिलीज़ के बाद परेशान हो गए थे

निखिल ने आरोप लगाया कि रिया के साथ मिलकर संजय राउत सुशांत की ‘सलेक्टीव फैमिली डिटेल’ को सार्वजनिक कर रहे हैं जिससे कि मामले को दूसरा मोड़ दिया जा सके. निखिल आनंद ने कहा कि सीबीआई जांच को लेकर शिवसेना जिस तरह से बदहवास तरीके से घबराई हुई है, उससे लगता है कि सुशांत की संदेहास्पद मृत्यु के सभी राज शिवसेना को पता है अन्यथा पूरी राज्य सरकार बिहार के बेटे के न्याय के खिलाफ क्यों खड़ी है? Also Read - विशेष अदालत का सभी दोषियों को बरी करने का फैसला सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के प्रतिकूल: कांग्रेस

उन्होंने कहा, “दिशा सालियान के मामले में भी शिवसेना के दामन पर दाग दिखाई देता है. शक होता है कि शिवसेना के घनिष्ठ संबंध आरोपियों के साथ हैं. इन सब कारणों से सीबीआई से गुजारिश है कि संजय राउत और आदित्य ठाकरे का नारको एनालिसिस टेस्ट कराये, जिससे सारे रहस्य से परदा उठ सके.” Also Read - Drug Case: अफवाह है दीपिका, श्रद्धा, सारा को क्लीन चिट दिए जाने की बात, NCB ने कहा...