पटना: बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मुंबई के मेयर की सीबीआई को धमकी देने की निंदा करते हुए कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के कथित आत्महत्या मामले में शिवसेना का दामन भी दागदार है. ऐसे में सच को सामने लाने के लिए सीबीआई को शिवसेना नेता संजय राउत और आदित्य ठाकरे का नारको टेस्ट करना चाहिए. बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने मुम्बई की मेयर द्वारा सीबीआई को धमकी देकर पहुंचते ही क्वारंटाइन करने की चेतावनी देने को निंदनीय करार देते हुए कहा कि इससे स्पष्ट हो गया है कि बीएमसी ने महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर ही बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटाइन किया गया था.Also Read - Haryana: जींद में किसानों नेताओं की घोषणा, अब BJP-JJP नेताओं का बहिष्कार नहीं करेंगे

निखिल ने आरोप लगाया कि रिया के साथ मिलकर संजय राउत सुशांत की ‘सलेक्टीव फैमिली डिटेल’ को सार्वजनिक कर रहे हैं जिससे कि मामले को दूसरा मोड़ दिया जा सके. निखिल आनंद ने कहा कि सीबीआई जांच को लेकर शिवसेना जिस तरह से बदहवास तरीके से घबराई हुई है, उससे लगता है कि सुशांत की संदेहास्पद मृत्यु के सभी राज शिवसेना को पता है अन्यथा पूरी राज्य सरकार बिहार के बेटे के न्याय के खिलाफ क्यों खड़ी है? Also Read - Farmer's Agitation Live Updates: किसान नेता चढूनी बोले, जब तक सरकार सभी मांगें नहीं मान लेती तब तक आंदोलन चलता रहेगा

उन्होंने कहा, “दिशा सालियान के मामले में भी शिवसेना के दामन पर दाग दिखाई देता है. शक होता है कि शिवसेना के घनिष्ठ संबंध आरोपियों के साथ हैं. इन सब कारणों से सीबीआई से गुजारिश है कि संजय राउत और आदित्य ठाकरे का नारको एनालिसिस टेस्ट कराये, जिससे सारे रहस्य से परदा उठ सके.” Also Read - Goa: पूर्व मुख्‍यमंत्री रवि नाइक ने दिया कांग्रेस के व‍िधायक पद से इस्तीफा, BJP में हो सकते हैं शामिल