पटना। भारतीय जनता पार्टी से समझौता कर दोबारा बिहार के मुख्यमंत्री बने नीतीश कुमार ने आज आरजेडी-कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने पर सफाई पेश की. इसी के साथ उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को 2019 चुनाव का विजेता मान लिया. नीतीश ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि क्यों उन्हें इस गठबंधन से बाहर आना पड़ा. नीतीश ने कहा भ्रष्टाचार से किसी कीमत पर समझौता नहीं किया जा सकता. मैंने बिहार के हित में काम किया है. नीतीश ने कहा कि तेजस्वी यादव के मुद्दे पर लालू प्रसाद यादव ने कुछ भी नहीं किया.Also Read - Caste Census: जातीय जनगणना को लेकर सीएम नीतीश कुमार का बड़ा बयान, कहा- सर्वदलीय बैठक में सबकी राय से...

इस दौरान नीतीश ने पीएम नरेंद्र मोदी का भी गुणगान किया. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि 2019 में नरेंद्र मोदी को चुनौती देने की क्षमता किसी में नहीं है. कोई दूसरा व्यक्ति पीएम पद पर काबिज नहीं हो सकता. Also Read - शराबबंदी सही है या नहीं... महिलाओं से पूछने निकलेंगे नीतीश कुमार, जल्दी ही यात्रा करेंगे

Also Read - कोरोना की दूसरी खुराक लेने कोविड केंद्र पहुंचे लोग, अधिकारी बोले- आपको पहले ही लग चुका है टीका; मचा बवाल

नीतीश ने कहा कि मैंने महागठबंधन का सरकार चलाने की पूरू कोशिश की, लेकिन आरजेडी के तरफ से हो रही लगातार आपत्तिजनक बयानबाजी की जा रही थी. मुझे जहर कहा गया, मैंने वो भी बर्दाश्त किया. उधर, लालू जी की तरफ से साफ तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा रहा था, अंततः मेरे पास कोई विकल्प नहीं था. मैंने हर बात को नजरअंदाज किया, सोचा ये सब गठबंधन में होता है और काम करता रहा.

नीतीश ने कहा कि हमारी तरफ से आरजेडी पर कोई भी टिप्पणी नहीं की गई. मेरी तरफ से भ्रष्टाचार के आरोप पर सफाई देने को कहा गया था, क्या उनकी तरफ से कोई सफाई दी गई. अगर सफाई आई होती तो स्थिति कुछ और हो सकती थी. नीतीश ने कहा कि जब पहली बार लालू जी पर छापेमारी हुई थी तो ट्विटर पर उनकी तरफ से कहा गया था कि बीजेपी को गठबंधन का नया साथी मुबारक हो. बाद में इस ट्वीट पर सफाई दी गई, लेकिन इसका असर क्या पड़ा?

नीतीश ने कहा कि मुझे किसी से सेक्युलरिज्म का सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है. सेक्युलरिज्म का चादर ओढ़ कर के लोग संपत्ति अर्जित करें, यही मतलब है सेक्युलरिज्म का? उन्होंने कहा कि आरजेडी प्रशासनिक फैसलों में दखल दे रही थी. मुझे लगा सरकार नहीं चला सकता तो इस्तीफा दे दिया. बीजेपी के साथ गठबंधन पर नीतीश ने कहा कि प्रस्ताव बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से आया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विट किया था.