पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मई के अंत तक लॉकडाउन को बढ़ाने का सोमवार को समर्थन किया और कहा कि यह राज्य को बड़े पैमाने पर मूल निवासियों के वापस आने से पैदा हुई स्थिति को नियंत्रण में लाने में मदद करेगा. Also Read - कोरोना वायरस वैक्सीन बनाने में मदद करेगी गुजरात कोविड म्यूटेशन अध्ययन, जानिए क्या है एक्सपर्ट की राय 

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वीडियो कॉन्फ्रेंस में कुमार ने साफ कहा कि लॉकडाउन के संबंध में केंद्र सरकार जो भी फैसला करेगी, राज्य उसके साथ होगा लेकिन लॉकडाउन को बढ़ाना मददगार होगा. Also Read - थूक के इस्‍तेमाल पर रोक से बिगड़ेगा गेंद-बल्‍ले का संतुलन, अनिल कुंबले का सुझाव, पिच में हो बदलाव

कुमार ने बताया कि 96 विशेष श्रमिक ट्रेनों से 1.14 लाख लोग लौटे हैं. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य ने 100 वेंटिलेटर का अनुरोध किया है. कुमार ने कहा कि दूसरे राज्यों और विदेश से लौटे लोगों की वजह से कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी हुई है और संक्रमितों की संख्या 700 के पार पहुंच गई है. Also Read - Pakistan Coronavirus Update: 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले आए सामने, संक्रमितों की संख्या 80 हजार के पार

उन्होंने कहा कि हमने वापस आए 1900 लोगों की औचक जांच की जिनमें से 148 संक्रमित पाए गए. उन्होंने कहा कि हम जिनकों भी वापस लेकर आएं है उनकी पूरी तरह से व्यवस्था की गई है ताकि उन्हें किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो. सीएम ने कहा कि सभी लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है और यह पीरियड पूरा होने के बाद ही वे अपने घर को जा सकत हैं.

प्रवासी मजदूरों के बारे में उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लगातार दूसरों राज्यों से बात कर रही है और हमारे मजदूर भाई जहां जहां भी हम उनकी वापसी की पूर्ण व्यवस्था कर रहे हैं.