पटना: बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के 61 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में संक्रमण के मामले बढ़ कर 2,166 हो गए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि संक्रमण के नए मामलों में सर्वाधिक 13 मामले बक्सर से हैं. वहीं, खगड़िया में नौ, गया में सात,पूर्वी चंपारण में छह, भागलपुर ,पश्चिमी चंपारण और सीमामढ़ी में पांच-पांच, बेगूसराय,मुजफ्फरपुर और मुंगेर में तीन-तीन और अरवल,कैमूर में एक-एक मामले सामने आए हैं. Also Read - बिहार में 30 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, केंद्र के दिशानिर्देश को लागू करेगी सरकार

शुक्रवार शाम स्वास्थ्य विभाग ने ट्वीट किया, ‘‘61 और लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसके साथ संक्रमण के मामले बढ़ कर 2,166 हो गए. वे किस तरह संक्रमित हुए, इस बात का हम पता लगा रहे हैं.’’ Also Read - बिहार: पटना में आंधी-बारिश ने घरों को भी किया क्षतिग्रस्त, पेड़ गिरे, लोगों ने रैनबसेरा में गुजारी रात

बक्सर में कोविड-19 के मरीजों में एक साल के दो बच्चे और सात साल की एक बच्ची भी शामिल है. वहीं, तीन दिन पहले दिल्ली से बिहार पहुंचने के कुछ ही घंटे बाद एक प्रवासी श्रमिक की संक्रमण से मौत हो गई. स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार वह खगड़िया जिले का रहने वाला था और मंगलवार को एक विशेष ट्रेन से आया था. Also Read - Covid-19 Cases in Bihar: प्रवासियों के लौटने के बाद तेजी से फैला संक्रमण, 206 नए मामले, कुल 3, 565 संक्रमित, जानें कहां कितनी संख्या

उसे तेज बुखार था और स्टेशन के कुछ ही घंटे के भीतर उसकी मौत हो गई. इसके बाद उसका नमूना लिया गया और जांच के लिए भेजा गया. रिपोर्ट में व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. राज्य में अब तक कुल 11 लोगों की मौत इस खतरनाक वायरस से हुई है. वैशाली और खगड़िया में दो-दो तथा मुंगेर, सीतामढ़ी, पूर्वी चम्पारण, बेगूसराय और रोहतास में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई.

राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण से 629 लोग स्वस्थ हुए हैं. बिहार में संक्रमण का पहला मामला 22 मार्च को सामने आया था और चार सप्ताह बाद सौ का आंकड़ा पार हुआ था, लेकिन राज्य में प्रवासी श्रमिकों के लौटने के बाद से संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं.