Bihar CoronaVirus: कोरोना संक्रमण की वजह से बिहार सरकार के मुख्‍य सचिव अरुण कुमार सिंह का आज निधन हो गया है. उनके निधन की खबर सुनकर सीएम नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त किया है. अरुण कुमार सिंह को  27 फरवरी 2021 को राज्‍य के मुख्‍य सचिव की जिम्‍मेदारी दी गई थी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की कोरोना संक्रमण से हुई मौत पर शोक और गहरी संवेदना व्यक्त की है. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.Also Read - लालू पर फिर मंडराया संकट: दिल्ली-पटना समेत 17 ठिकानों पर CBI कर रही छापेमारी, रेलमंत्री रहते घोटाले का आरोप

मुख्य सचिव के असामयिक निधन की सूचना मुख्यमंत्री को कैबिनेट की बैठक के समापन के समय मिली. कैबिनेट की बैठक में मुख्य सचिव के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए एक मिनट का मौन रखा गया. उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. Also Read - बिहार की अदालत में अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान और अजय देवगन के खिलाफ याचिका दायर, जानें क्या है मामला...

मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि अरुण कुमार सिंह वर्ष 1985 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी थे. वे भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक कुशल प्रशासक थे. वे एक मिलनसार व्यक्ति थे.विभिन्न पदों पर रहते हुए उन्होंने अपनी भूमिका का बेहतर निर्वहन किया था. उनके निधन से प्रशासनिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है. Also Read - गर्मी की छुट्‌टी: सिलेबस पूरा करने के बाद ही प्राइवेट स्कूलों में होगा समर वेकेशन, सरकारी स्कूलों में 23 मई से छुट्ट‍ियां शुरू

क लाख से पार हो चुके हैं बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले

राज्‍य में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या अब एक लाख के पार जा चुकी है. वहीं  एक मई से 18 वर्ष से 45 वर्ष के बीच आयु के लोगों का होने वाला टीकाकरण भी राज्‍य में टल गया है. इसके पीछे पर्याप्‍त मात्रा में टीके उपलब्‍ध नहीं होने की वजह बताई गई है. राज्‍य सरकार ने कहा है कि 18 से 45 वर्ष के बीच के लोगों को टीका कब लगाया जाएगा, यह टीकों की आपूर्ति पर निर्भर करेगा.