पटना: बिहार के गोपालगंज में तीन लोगों की हत्या के मामले में आरोपी जदयू के विधायक पप्पू पांडेय की गिरफ्तारी को लेकर राजद जहां सरकार पर निशाना साध रहा है, वहीं भाजपा ने भी अब विधायक अरुण यादव को लेकर राजद को आड़े हाथ लिया है. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शुक्रवार को कहा कि राबड़ी देवी बताएं कि नाबालिग से दुष्कर्म और सेक्स रैकेट चलाने के आरोपी तथा एक ही दिन में 5 फ्लैट खरीदने वाले अपने करीबी विधायक अरुण यादव को कहां छुपा रखी हैं.Also Read - India Post Bihar GDS Result 2021: भारतीय डाक ने बिहार जीडीएस परीक्षा का परिणाम जारी किया, चेक करें

मोदी ने एक बयान जारी कर कहा, “जुलाई, 2019 में पीड़ित नाबालिग के 164 के अंतर्गत दर्ज बयान में नाम आने व पटना स्थित फ्लैट की पहचान किए जाने और विशेष पॉस्को कोर्ट में चार्जशीट दाखिल होने के बाद भी राजद का विधायक आखिर किसके संरक्षण में फरार है?” Also Read - Bihar Police Fireman 2021 : 2380 पदों के लिये CSBC फायरमैन परीक्षा की तारीख जारी, यहां देखें नोटिस

मोदी ने कहा कि नाबालिग से दुष्कर्म मामले में फरार विधायक व बालू माफिया अरुण यादव पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी व लालू प्रसाद का कितना करीबी है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसने 13 जून, 2017 को लालू यादव की मां के नाम पर बने ‘मरछिया देवी कमर्शियल कॉम्पलेक्स’ के 5 फ्लैट राबड़ी देवी को 2़56 करोड़ का भुगतान कर उनके काले धन को सफेद करने के लिए खरीद लिया था. Also Read - Bihar: करंट की चपेट में आने SSB के तीन जवानों की जान गई, 9 अन्य गंभीर रूप से घायल

मोदी ने आरोप लगाया कि आरोपी विधायक अरुण यादव का लालू परिवार के साथ केवल राजनीतिक ही नहीं, कारोबारी संबंध भी हैं. मोदी ने कहा कि अपराधियों, दुष्कर्मियों को संरक्षण देने वाली पार्टी राजद न केवल राजबल्लभ यादव और मोहम्मद शहाबुद्दीन की पत्नियों को टिकट देकर चुनाव लड़ाती है, बल्कि उसे अलकतरा घोटाले में सजायाफ्ता मोहम्मद इलियास हुसैन के परिजन से भी परहेज नहीं है.