अपने बयानों के लिए मशहूर बिहार के पुलिस महानिदेशक (DGP) गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (VRS) ले लिया है. 1987 बैच के IPS अधिकारी गुप्तेश्वर पांडेय (Bihar DGP Gupteshwar Pandey) ने इससे पहले वीआरएस का आवेदन दिया था, जिसे सरकार ने मंजूर कर लिया. बिहार के गृह विभाग (आरक्षी शाखा) ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी. गुप्तेश्वर पांडेय को पिछले साल बिहार का पुलिस महानिदेशक बनाया गया था.Also Read - Bihar News In Hindi: JDU के प्रवक्ता पद से हटे संजय सिंह, नीरज कुमार को फिर मिली यह जिम्मेदारी

गुप्तेश्वर पांडेय अगले साल फरवरी में सेवानिवृत्त होने वाले थे. गृह विभाग की तरफ से जारी अधिसूचना के मुताबिक 22 सितंबर, 2020 के दोपहर से उन्हें स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति प्रदान की गई है. उन्होंने मंगलवार को ही इसके लिए आवेदन दिया था. गुप्तेश्वर पांडेय के VRS लेने के बाद उनकी जगह एसके सिंघल (SK Singhal) बिहार के नए डीजीपी बनाए गए हैं. Also Read - नौकरशाही से नाराज नीतीश के मंत्री मदन साहनी ने दिया इस्तीफा, लगाया यह आरोप

इधर, पांडेय के विधानसभा चुनाव लड़ने की अटकलें भी लगाई जा रही हैं. हालांकि अब तक पांडेय ने इसकी घोषणा नहीं की है. उल्लेखनीय है कि फिल्म अभिनेता और पटना के रहने वाले सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में पांडेय देशभर में अपने बयानों को लेकर खूब चर्चित हुए थे. तभी से यह कयास लगाया जाने लगा था कि पांडेय बिहार में चुनाव लड़ेंगे. Also Read - तेजस्वी और तेजप्रताप यादव ने ली कोरोना वैक्सीन, पटना मेदांता में लगवाई रूस की Sputnik V

बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके अपने गृह जिले बक्सर से चुनाव लड़ने की उम्मीद है. दो दिन पहले ही पांडेय ने बक्सर का दौरा किया था. वे वहा के ज़िला जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष से मिले थे. हालांकि उन्होंने अपने चिरपरिचित अंदाज़ में चुनाव और राजनीति में शामिल होने की खबरों को अफ़वाह बताया था.

(इनपुट: IANS)