Bihar Election 2020: इसी साल होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार पार्टी जनता दल को बड़ा झटका लगा है. बिहार के जेडीयू के पूर्व एमएलसी जावेद इकबाल अंसारी ने मंगलवार को अपनी पार्टी का दामन छोड़ आरजेडी का हाथ थाम लिया है. इसके अलावा जेडीयू के पूर्व विधायक रामनरेश सिंह की बेटी शगुन सिंह ने भी पार्टी से किनारा कर राजद में जाने का फैसला किया. Also Read - रामविलास पासवान का बेटे के लिए बड़ा बयान- चिराग जो फैसला लेंगे, हम उनके साथ

ये सिलसिला यहीं नहीं रुका बल्कि पूर्व एडीजी अशोक गुप्ता ने भी आरजेडी के साथ आ कर विधानसभा चुनाव में जाने का फैसला ले लिया है. नेता प्रतिपक्ष और आरजेडी के वर्तमान के सर्वेसर्वा तेजस्वी यादव ने इन सभी को पार्टी की सदस्यता दिलाई. Also Read - तेजस्वी यादव बोले- बिहार में शवों के ढेर पर चुनाव कराना सही नहीं, क्या नीतीश को राष्ट्रपति शासन का डर है?

बता दें कि बिहार विधान परिषद् की नौ सीटों पर चुनाव अब छह जुलाई को होंगे. चुनाव पहले मई में होने वाले थे लेकिन कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए इन सीटों पर चुनाव टाल दिया गया था. इसके अलावा इसी साल विधानसभा के चुनाव भी हो सकते हैं. Also Read - नीतीश कैबिनेट में कोरोना की एंट्री, मंत्री विनोद कुमार सिंह और उनकी पत्नी कोरोना संक्रमित

जी न्यूज के मुताबिक इस मौके पर आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, पूर्व मंत्री वृषण पटेल, पूर्व मंत्री अब्दुलबारी सिद्दीकी, पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति सिंह भी मौजूद रहे. आरजेडी नेता वृषण पटेल ने कहा कि लालू यादव की कमी को तेजस्वी यादव पूरा करेंगे.