Bihar Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन अंतिम जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा ऐलान कर दिया है. पूर्णिया के धमदाहा में चुनाव प्रचार करने पहुंचे नीतीश कुमार ने अपनी आखिरी जनसभा में मंच से ऐलान करते हुए कहा कि मौजूदा चुनाव उनका आखिरी चुनाव है. Also Read - बिहार: JDU विधायक के करीबियों पर अंधाधुंध फायरिंग, 2 की मौत, भीड़ ने दो आरोपियों को पकड़ा, पिटाई

नीतीश कुमार के इस ऐलान के बाद माना जा रहा है कि वह 2020 के बाद अब राजनीति से खुद को अलग कर लेंगे. उन्होंने अपने इस चुनाव को आखिरी चुनाव बताते हुए लोगों से आखिरी मौका देने की अपील की. नीतीश ने कहा कि अंत भला तो सब भला इसलिए आप आखरी मौका दे. Also Read - Bihar Politics: मर्यादा भूले तेजस्वी, सीएम नीतीश से पूछा सवाल-क्या आपको लड़की पैदा होने का डर था..

नीतीश कुमार ने मंच से कहा कि लोगों की कठिनाइयों के बारे में सोचकर उसके हिसाब से काम किया जा रहा है. गांवों को सड़कों से जोड़ा गया. लड़कियों को साइकिल और पोशाक दिया गया. हर घर तक नल का जल और हर घर बिजली पहुंचाया. जब से मौका मिला है तब से बिहार के लिए वह काम करते आ रहे हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोगों को काम से मतलब नहीं था. जब उनको काम करने का मौका मिला तो हॉस्पिटल का क्या हाल था, सबको पता है. लेकिन अब स्थिति बदल गई है. एक पीएचसी में हर माह करीब 10 हजार लोग इलाज के लिए आते हैं. डॉक्टर मौजूद रहते हैं दवा भी मिलता है. एक-एक चीज पर काम किया जा रहा है. नीतीश कुमार ने कहा कि हमने पहले ही कहा कि राज्य के खजाने पर हक आपदा पीड़ितों का है. लेकिन जंगलराज के दौरान कुछ नहीं दिया जाता था. हम तो बाढ़ पीड़ितों के लिए काम करते रहे हैं.