Bihar orchestra News: रोहतास जिले में एक हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ होने के एक दिन बाद बिहार सरकार ने सभी जिलाधिकारियोऔर पुलिस अधीक्षकों (एसपी) को ऑर्केस्ट्रा आयोजकों और उनकी भर्ती प्रक्रिया पर नजर रखने का निर्देश दिया है. इस तरह का निर्णय जांच के निष्कर्षों के बाद लिया गया था जिसमें एक ऑर्केस्ट्रा आयोजक रेखा कुमारी उर्फ बुआ गरीब नाबालिग लड़कियों को अच्छे रुपये पर ऑर्केस्ट्रा में काम करने के लिए लुभाती थी और फिर उन्हें देह व्यापार में धकेल देती थी, उन्हें मुंबई के डांस बार में भेजती थी.Also Read - लालू यादव सपा संस्‍थापक मुलाय‍म सिंह से मिले, अखिलेश यादव भी रहे मौजूद

बिहार में, कई जिलों में बड़ी संख्या में आर्केस्ट्रा चल रहे हैं. बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग के निदेशक राज कुमार ने इस संबंध में सभी 38 जिलों के डीएम और एसपी को पत्र लिखा है. राजकुमार ने कहा, “हमने सभी जिलों के अधिकारियों को ऑर्केस्ट्रा संचालकों पर नजर रखने और उनके गलत कामों के बारे में कोई शिकायत या सूचना सार्वजनिक होने पर उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.” पटना की सामाजिक कार्यकर्ता शाहिना परवीन ने 3 जुलाई को समाज कल्याण विभाग को पत्र लिखकर बताया कि ऑर्केस्ट्रा की आड़ में बड़े पैमाने पर देह व्यापार रैकेट चल रहा था. Also Read - Maharashtra में बिहार के मंत्री के बोल- बिहार में काम करना हमारे लिए बहुत चुनौतीपूर्ण...बहुत कुछ सहना पड़ता है

परवीन ने कहा, “बड़ी संख्या में परिवार महामारी के कारण गंभीर वित्तीय तनाव में हैं, ऑर्केस्ट्रा आयोजक आकर्षक प्रस्तावों के माध्यम से कम-विशेषाधिकार प्राप्त लड़कियों को फंसाने के लिए स्थिति का लाभ उठा रहे हैं. ऑपरेटरों का लक्ष्य लड़कियों को देह व्यापार और मानव तस्करी करके आसानी से पैसा कमाना है.” बिहार पुलिस ने मंगलवार सुबह रोहतास जिले के बिक्रमगंज कस्बे में एक घर में छापेमारी कर 6 नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया है. पुलिस ने गिरोह की सरगना रेखा देवी समेत 5 लोगों को भी गिरफ्तार किया है. Also Read - UP में पहले महिलाएं असुरक्षित महसूस करती थीं, अब देश में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्‍य बना: अमित शाह 

“रेखा ऑर्केस्ट्रा में अच्छी तनख्वाह के साथ नौकरी देने का ऑफर देती थी. एक बार एक लड़की जाल में फंस गई, तो उसने उसे घर में बंदी बना लिया और मुंबई में तस्करी कर ले गई. आरोपी का मुंबई में एक घर भी है और वह लड़कियों की आपूर्ति करता था बार डांस करता था और देह व्यापार में शामिल था.”

उन्होंने कहा, “हमने आईपीसी की संबंधित धाराओं – हत्या, मानव तस्करी, अपहरण और पॉक्सो अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की है. पुलिस टीम ने घर से गर्भावस्था और गर्भपात की गोलियों के अलावा 1.71 लाख रुपये नकद भी जब्त किए हैं. पीड़ितों को रोहतास जिले में एक आश्रय गृह में स्थानांतरित कर दिया गया था.”

(इनपुट आईएएनएस)