नई दिल्ली. बिहार में काम करने वाले सरकारी कर्मचारियों को सरकार सातवें वेतन आयोग का लाभ तो दे रही है, लेकिन इसके एवज में उनके लिए पहले से निर्धारित एक महत्वपूर्ण सुविधा भी छीनने जा रही है. जी हां, अगर आप बिहार के किसी सरकारी विभाग में काम करते हैं तो अब आपको मोटरसाइकिल या कार खरीदने के लिए सरकार कोई मदद नहीं देगी. राज्य सरकार ने इस संबंध में निर्णय ले लिया है. बिहार मंत्रिमंडल ने कार एवं मोटरसाइकिल खरीदने के लिए राज्य सरकार के कर्मचारियों एवं न्यायिक अधिकारियों को अग्रिम (एडवांस) राशि के भुगतान की सुविधा को समाप्त करने का फैसला किया. सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मद्देनजर यह निर्णय किया गया है. Also Read - Covid-19 in Bihar Update: प्रवासियों ने बिहार में तेजी से बढ़ाई संक्रमितों की संख्या, 163 नए मामले

कार-बाइक का पैसा बंद, घर के लिए मिलती रहेगी सुविधा
राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में घर के निर्माण और विस्तार कार्य के लिए सरकारी कर्मचारियों को दी जाने वाली अग्रिम राशि में इजाफा किया गया है. कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव अरुण कुमार सिंह ने संवाददाताओं को बताया, ‘राज्य सरकार ने कार और मोटरसाइकिल खरीदने के लिए राज्य सरकार के कर्मचारियों और न्यायिक अधिकारियों को अग्रिम दिए जाने की सुविधा को समाप्त करने का फैसला किया है.’ प्रधान सचिव ने बताया कि बिहार में सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू कर दी गई हैं. इसके प्रावधानों में सरकारी सेवकों को कार और मोटरसाइकिल खरीदने के लिए एडवांस दिए जाने का कोई प्रावधान नहीं है. इसी वजह से कार-बाइक एडवांस की सुविधा बंद कर दी गई है. Also Read - बिहार सरकार का ऐलान- कोविड-19 से जान गंवाने वाले 13 लोगों को मिलेंगे चार-चार लाख रुपए

5 लाख रुपए तक की मिलती थी मदद
बिहार सरकार के ताजा कैबिनेट फैसले से पहले तक राज्य सरकार के कर्मचारियों को सरकार की ओर से कार या मोटरसाइकिल खरीदने के लिए अच्छी-खासी आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान था. राज्य कर्मचारियों को पहली बार कार खरीदने के लिए 5 लाख रुपए और दूसरी बार इसके लिए 4 लाख रुपए तक की मदद दी जाती थी. कर्मचारियों को पहली बार मोटरसाइकिल खरीदने के लिए 30 हजार रुपए दिए जाते थे, वहीं, दूसरी बार इसके लिए 24 हजार रुपए तक अग्रिम भुगतान किए जाने की सुविधा थी. लेकिन अब ये सुविधाएं बिहार सरकार के कर्मचारियों को नहीं मिल पाएंगी. Also Read - सावधान! दिल्ली-मुंबई से बिहार लौट रहे कई श्रमिक कोरोना पॉजिटिव, बंगाल-UP का भी बुरा हाल