पूर्णिया. बिहार में पूर्णिया जिले के खजांचीहाट थाना क्षेत्र में स्थित बाल सुधार गृह में बुधवार की शाम एक कैदी ने हाउस फादर सहित दो लोगों की हत्या कर दी. घटना के बाद पांच बाल कैदी फरार बताए जा रहे हैं. पुलिस के अनुसार, शाम को कई कैदी बैडमिंटन खेल रहे थे, तभी एक कमरे से गोली चलने की आवाज सुनाई दी. इसके बाद लोग जब कमरे में गए तब उन्होंने वहां हाउस फादर बिजेंद्र कुमार मंडल (26) और एक कैदी सरोज कुमार (17) को घायल अवस्था में देखा. दोनों को गोली लगी थी. आनन-फानन में दोनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई.

पूर्णिया से प्रकाशित होने वाले अखबार हिन्दुस्तान में छपी खबर के मुताबिक, पूर्णिया के गढ़बनैली के रहने वाले हाउस फादर बिजेंद्र मंडल की एक साल पहले ही नौकरी लगी थी. पूर्णिया के बाल सुधार गृह में उनकी पहली तैनाती थी. वहीं, बाल कैदी सरोज मधेपुरा जिले का रहने वाला था. उसे 6 महीने पहले बाल सुधार गृह में लाया गया था. हिन्दुस्तान की खबर के मुताबिक, घटना के प्रत्यक्षदर्शी बाल सुधार गृह के गार्ड ने बताया कि शाम 5 बजे सभी कैदी परिसर में बैडमिंटन खेल रहे थे. अचानक ऑफिस से हो-हल्ले की आवाज आने लगी. जब तक लोग पहुंचते, इसी बीच गोलियां चलने की आवाज आने लगी. गार्ड और अन्य कैदी जब ऑफिस पहुंचे तो देखा कि बिजेंद्र और सरोज जमीन पर तड़प रहे थे. बिजेंद्र को जहां सिर में गोली मारी गई थी, वहीं सरोज की गर्दन में दो गोलियां लगी थीं. घटना के बाद आरोपी कैदी समेत 5 अन्य बाल कैदी फरार हो गए.

पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने बताया कि घटना को अंजाम देने के बाद पांच बाल कैदी यहां से फरार हो गए हैं. उन्होंने बताया कि मंगलवार की शाम कैदियों में झगड़ा होने के बाद कुछ कैदियों को अन्य सुधारगृह भेजने का निर्देश दिया गया था. घटना के बाद पूर्णिया के जिलाधिकारी प्रदीप झा और पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा बाल सुधार गृह पहुंचे और मामले की पूरी जानकारी ली. आरोपी बाल कैदियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी है. सभी फरार बाल कैदी पूर्णिया के ही रहने वाले बताए जा रहे हैं. बाल सुधार गृह के गार्ड ने बताया कि आरोपी कैदी ने हथियार के बल पर उससे सुधार गृह का गेट खुलवाया और अन्य साथियों के साथ फरार हो गया. हिन्दुस्तान में छपी खबर के मुताबिक, घटना से पहले आरोपी कैदी समेत पांचों बाल कैदियों को सुधार गृह से कहीं और शिफ्ट करने की सिफारिश की गई थी.

(इनपुट – एजेंसी)