सुपौल: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के काफिले पर बुधवार को बिहार के सुपौल जिले के सदर थाना क्षेत्र में कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया, जिससे उनके काफिले में शामिल दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. इस घटना में हालांकि कन्हैया को कोई नुकसान नहीं पहुंचा. Also Read - Corona Guidelines for Navratri and Ramadan 2021: यूपी, बिहार से लेकर महाराष्ट्र तक, जानिए इन 6 राज्यों में नवरात्र और रमजान को लेकर क्या हैं नियम?

सदर थाना के प्रभारी संदीप कुमार ने बताया कि जिले के किशनपुर प्रखंड के सिसौनी नेमनमा में सभाकर कन्हैया अपने काफिले के साथ सहरसा के लिए निकले थे. इसी दौरान मल्लिक चौक पर असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया. उन्होंने कहा कि इस घटना में एक-दो वाहनों के शीशे टूट गए हैं. इस घटना में कन्हैया को कहीं कोई चोट नहीं आई है. जबकि सूत्रों का कहना है कि एक-दो लोगों को हल्की चोट लगी है. बाद में कड़ी सुरक्षा के बीच सभी वाहनों को सुरक्षित निकाला गया. थाना प्रभारी ने बताया कि घटना को लेकर किसी को हिरासत में नहीं लिया गया है. इससे पहले, शनिवार को भी कन्हैया के सीवान से छपरा जाने के क्रम में कोपा बाजार में असामाजिक तत्वों ने उनके काफिले पर पथराव किया था. Also Read - Bihar: पश्‍चिम बंगाल में भीड़ के हमले में मारे गए SHO की बेटी ने कहा- यह षड़यंत्र, मैं CBI जांच की मांग करती हूं

CAA, NRC व NPR के विरोध में ‘जन-गण-मन यात्रा’ पर कन्हैया
कन्हैया इन दिनों बिहार में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में ‘जन-गण-मन यात्रा’ पर हैं. एक महीने तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान वे बिहार के लगभग सभी प्रमुख शहरों में पहुंचेंगे और करीब 50 सभाएं करेंगे. कन्हैया ने इस यात्रा की शुरुआत 30 जनवरी को बेतिया से की है. Also Read - पश्चिम बंगाल में पीट-पीटकर मारे गए बिहार के पुलिस अफसर की मां का निधन, बेटे की हत्या से सदमे में थीं