गोपालगंज: बिहार (Bihar) के गोपालगंज जिले (Gopalganj district) में कोर्ट जा रहे रहे एक वकील (lawyer shot dead) की गोली मारकर हत्‍या कर कर दी गई. गोपालगंज जिले के कुचायकोट थाना क्षेत्र में मंगलवार को अज्ञात अपराधियों ने सिविल कोर्ट के अधिवक्ता राजेश पांडेय को गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गए. इस वारदात के विरोध में गोपालगंज व्यवहार न्यायालय के वकीलों ने मोनिया बाबा चौक के समीप सड़क को जाम कर दिया, जिससे घंटों आवागमन ठप रहा. बाद में प्रशासन के आश्वासन पर सड़क जाम खत्‍म हुआ.Also Read - Bihar News: गया के होटल में चल रहा था हाई प्रोफइल देह व्यापार का धंधा, 2 लड़कियों के साथ 13 लोग गिरफ्तार, होंगे कई खुलासे

अधिवक्ता राजेश पांडेय गोपालगंज जिला मुख्यालय आ रहे थे, तभी पोखर भिंडा पुल के पास एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन अपराधियों ने अधिवक्ता को गोली मार दी और फरार हो गए. फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है. बताया जा रहा है कि पहले भी अपराधियों ने वकील पांडेय को धमकी दी थी. Also Read - चिराग पासवान ने 'जहरीली शराब' को लेकर राज्यपाल को लिखी चिट्ठी, बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की

गोपालगंज के जिले के कुचायकोट थाना अंतर्गत पोखर भिंडा पुल के समीप अदालत जा रहे एक अधिवक्ता की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने बताया कि मृतक अधिवक्ता का नाम राजेश पांडेय है. उन्होंने बताया कि कुचायकोट थाना अंतर्गत खुटवनीया गांव निवासी पांडेय मोटरसाइकिल से गोपालगंज जिला मुख्यालय आ रहे थे तभी पोखर भिंडा पुल के पास एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन अपराधियों ने अधिवक्ता को गोली मार दी और फरार हो गए. Also Read - Bihar Politics: बिहार में फिर होगी उलट-फेर? मुकेश सहनी ने दिए बड़े संकेत, तेजस्वी को बताया-छोटा भाई

राजेश पांडेय अपने एक सहयोगी के साथ बाइक से गोपालगंज सिविल कोर्ट जा रहे थे. इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 27 पर पोखरभिंडा के पास बाइक पर सवार अपराधियों ने अधिवक्ता की बाइक को ओवरटेक कर रोक दिया और फिर अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दी. लोगों की मदद से अधिवक्ता को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां इलाज के क्रम में उनकी मृत्यु हो गई. सदर अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार ने बताया कि इस वारदात में शामिल अपराधियों की धरपकड़ के लिए सघन छापेमारी जारी है. मुताबिक गोली लगने से अधिवक्ता मौके पर ही गिर गए. पुलिस पूरे मामले की हर एंगल से जांच कर रही है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक मृतक अधिवक्ता को पहले भी अपराधियों ने धमकी दी थी, लेकिन इसकी रिपोर्ट पुलिस थाने में नहीं दी गई थी. इस वारदात के विरोध में गोपालगंज व्यवहार न्यायालय के वकीलों ने मोनिया बाबा चौक के समीप सड़क को जाम कर दिया जिससे घंटों आवागमन ठप रहा. बाद में प्रशासन के आश्वासन पर सड़क जाम खत्‍म हुआ. (इनपुट: भाषा-आईएएनएस)