Bihar Coronavirus, Lockdown Update News: बिहार के भागलपुर स्थित एक हॉस्पिटल में अपने पति का इलाज कराने आई एक महिला ने हॉस्पिटल स्टाफ पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. पीड़िता हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित अपने पति और मां को उपचार दिलाने की कोशिश कर रही थी. आरोप ये भी है कि पटना और भागलपुर हॉस्पिटल के अधिकारियों की लापरवाही के चलते उनके पति की मौत हो गई. उन्होंने हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन सिलिंडर (Oxygen Cylinder) की कालाबाजारी का आरोप भी लगाया.

महिला ने बताया कि उनका पूरा परिवार नोएडा (Noida Covid-19 Updates) में रहता है और होली का त्योहार मनाने के लिए सभी भागलपुर (Bhagalpur coronavirus Updates) पहुंचे थे. इस बीच कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कुछ दिन वहीं रुकने का निर्णय लिया. पीड़िता ने बताया कि अप्रैल की शुरुआत में उनके पति बीमार हो गए और जांच में कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई. उनके फेफड़े में संक्रमण पहुंच चुका था. मामले की गंभीरता को देखते हुए पति को भागलपुर में एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. मां को भी संक्रमण की पुष्टि के बाद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया.

भागलपुर स्थित ग्लोकल हॉस्पिटल (Glocal Hospital Bhagalpur) में इलाज के दौरान पीड़िता ने आरोप लगाया कि कंपांडर ज्योति कुमार (Jyoti Kumar, Male Compounder) ने उनके साथ छेड़खानी की. पीड़िता ने पत्रकारों को बताया- मैंने कंपाउंडर से अपील की कि वो हॉस्पिटल में पति के पास रुकने दे. मुझे यहां रुकने नहीं दिया जा रहा है. उसने हां कह दिया और मैं अपने पति से बात करने लगी. इस बीच अचानक मेरा दुपट्टा जोर खींचा. पीछे मुड़कर देखा तो कमर पर उस आदमी का हाथ था. वो मेरा दुपट्टा खींच रहा था.

वीडियो में सुनिए महिला की आपबीती-

पीड़िता ने आरोप लगाया कि पटना स्थित हॉस्पिटल में उनके पति को पीने का पानी तक नहीं दिया गया. कर्मचारियों द्वारा गंदी चादरें नहीं बदली गईं थीं. उन्होंने आरोप लगाया कि हॉस्पिटल स्टाफ ने परिजनों से ब्लैक में ऑक्सीजन सिलिंडर खरीदने के लिए मजबूर किया. वो जानबूझकर ऑक्सीजन सिलिंडर बेचने के लिए कम आपूर्ति कर रहे थे. वहीं महिला के आरोप के बाद भागलपुर पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है. इसके लिए तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया है.