गोपालगंज: बिहार के गोपालगंज जिले के उचकागांव थाना अंतर्गत बलेसरा पंचायत के मुखिया महात्मा चौधरी के घर पर अज्ञात बदमाशों ने मंगलवार रात अंधाधुंध गोलीबारी की. घटना में मुखिया के बड़े बेटे की मौत हो गई, जबकि मुखिया, उनकी पत्नी और एक अन्य पुत्र गंभीर रूप से जख्मी हो गए. घायलों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. Also Read - करोड़पति किसान ने 10 लड़कियों से की शादी, फिर भी गोद लेना पड़ा बेटा, चौंकाने वाले तरीके से हुई...

Also Read - प्रेमी के साथ अवैध संबंध बना रही थी पत्नी तभी पहुंच गया पति, फिर जो हुआ उसे जानकर रूह कांप जाएगी

बिहार: ससुराल वाले नहीं कर रहे थे पत्नी की विदाई, ससुर को मार डाला Also Read - महाराष्ट्र और राजस्थान के बाद अब यूपी में ईंट से पीट कर पुजारी की निर्मम हत्या, घटना स्थल की फारेंसिक जांज शुरू

एसपी रशीद जमा ने बुधवार को बताया कि मंगलवार रात उचकागांव थाने की बलेसरा पंचायत के मुखिया महात्मा चौधरी के घर पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग की. घटना में मुखिया के पुत्र सत्येंद्र यादव की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. उन्होंने बताया कि गोलीबारी में मुखिया महातम चौधरी, उनकी पत्नी प्रभावती देवी एवं पुत्र नागेंद्र यादव गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए पटना मेडिकल कालेज अस्पताल रेफर कर दिया गया है. बिहार में प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद के गोपालगंज जिला अध्यक्ष रेयाजुल हक राजू ने जिले में जंगलराज कायम हो जाने का आरोप लगाते हुए अपराधियों की शीघ्र गिरफ्तारी के साथ मृतक के आश्रितों को मुआवजे के तौर पर 25 लाख रुपये एवं सरकारी नौकरी देने की मांग की. (इनपुट एजेंसी)