मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर में करीब एक सप्ताह से जीवन के लिए संघर्ष कर रही एक पीड़िता ने दम तोड़ दिया. करीब एक सप्ताह पहले युवती के पड़ोसी ने रेप की कोशिश की थी और नाकाम रहने पर युवती को आग के हवाले कर दिया था. बीते आठ दिसंबर को पीड़िता 50 फीसदी तक झुलस गई थी. बता दें कि बीते दिनों उन्‍नाव जिले में रेप की शिकार युवती ऐसे ही हमले में दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में मौत हो गई थी.

अहियापुर पुलिस थाने के प्रभारी विकास राय ने बताया कि आठ दिसंबर को पीड़िता 50 फीसदी तक झुलस गई थी, जिसके बाद उसे मुजफ्फरपुर के एक अस्पताल में भर्ती किया गया था और हालत बिगड़ने पर दो दिन बाद उसे पटना स्थानांतरित कर दिया गया था.

पीड़िता ने सोमवार सुबह पटना के अस्पताल में दम तोड़ दिया और यह खबर उसके गांव नजीरपुर में पहुंचने के बाद गुस्साए लोगों ने कई स्थानों पर मंगलवार को प्रदर्शन किया.

आरोपी को प्राथमिकी दर्ज होने के तत्काल बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने तेजी से न्याय और दोषी को मौत की सजा देने की मांग की है. प्रदर्शनकारियों को वरिष्ठ अधिकारी कई घंटों तक समझाते रहे कि जल्द से जल्द जांच पूरी होगी और न्याय मिलेगा. इसके बाद भीड़ तितर-बितर हुई.

स्थानीय लोगों का आरोप है कि आरोपी रवि राय पिछले तीन साल से युवती को परेशान कर रहा था, लेकिन शिकायत के बाद भी पुलिस ने इस पर ध्यान नहीं दिया. इससे आरोपी की हिम्मत बढ़ती गई और उसने लड़की को घर में अकेला पाकर बलात्कार की कोशिश की और विफल रहने पर उसे आग लगा दिया.

वहीं, पटना में ‘भूमिहार एकता मार्च’ के बैनर के तले इस घटना का विरोध करते हुए रेलवे पटरी पर बैठे लोगों के खिलाफ रेलवे पुलिस बल ने आईपीसी और रेलवे कानून के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है.