Bihar News Update: बिहार की राजधानी पटना में आज मंगलवार को राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा (STET) अभ्यर्थियों ने सरकार के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया. सभी राज्य के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary) के आवास पर पहुंचे थे, जहां स्थिति नियंत्रण से बाहर होता देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिसमें कुछ लोग घायल हो गए. एसटीईटी अभ्यर्थी परीक्षा परिणाम में धांधली का आरोप लगाकर लंबे समय में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.Also Read - अब दिल्ली से पटना तक फर्राटे भरेंगी गाड़ियां, केंद्रीय मंत्री गडकरी आज बिहार को देंगे बड़ी सौगात

इसी क्राम में आज हजारों की संख्या में अभ्यर्थी राजधानी पटना की सड़कों पर उतर गए और शिक्षा मंत्री विजय चौधरी के आवास का घेराव किया. एसटीईटी अभ्यर्थी विजय चौधरी से मुलाकात की मांग कर रहे थे. इस बीच कई रूटों पर यातायात प्रभावित होने लगा और पुलिस मौके पर पहुंची और प्रदर्शनकारियों को आगे बढ़ने से रुकने के लिए कहा, मगर कोई सुनने को तैयार नहीं हुआ. इससे पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया जिसके बाद प्रदर्शनकारियों की भीड़ तितर-बितर हुई. Also Read - पहले गौर से देखें इन तस्वीरों को...फिर आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे-आखिर एक बिहारी क्यूं है सब पर भारी

सोशल मीडिया में घटनाक्रम से जुड़े वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें प्रदर्शनकारी चप्पल-जूते छोड़कर भागते हुए नजर आए. वहीं लाठीचार्ज पर पुलिस ने सफाई देते हुए कहा कि वीआईपी क्षेत्र में किसी भी तरह का धरना प्रदर्शन प्रतिबंधित है. कोरोना काल की वजह से भी विरोध प्रदर्शन पर रोक लगी है. प्रदर्शनकारियों ने कानून का उल्लंघन किया है उसके उनके खिलाफ कार्रवाई की गई. Also Read - Bihar Latest News: बिहार में परिवार को मिली चौगुनी खुशी, महिला ने दिया 4 बच्चों को जन्म

उल्लेखनीय है कि एसटीईटी अभ्यर्थी परिणाम जारी होने के बाद से ही प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शनकारियों की एक मांग ये भी है कि जिस तरह छठे चरण के नियोजन में शामिल होने का मौका दिया जा रहा है उन्हें ये मौका दिया जाएगा. मालूम हो कि सरकार नवंबर तक आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को ही छठे चरण में नियोजन का मौका दे रही है. इसके बाद आवेदन करने वालों को मौका नहीं मिल रहा.